आंटी और उनकी बेटी

loading...

हैल्लो दोस्तों, यह 4 साल पहले की बात है, में एक कॉलोनी में रहता था जहाँ कमला आंटी नई रहने  आई थी। तब मुझे पता चला कि वो विधवा है और उसके दो बेटियाँ है, तब में उसको पसंद नहीं करता था, लेकिन उसने मेरे घरवालों से दोस्ती कर ली थी और मुझे अपना भाई बना लिया था, तब से में कमला आंटी को अक्का कह कर बुलाता था और वो इडली का बिजनस करती थी। हमारे पूरे टाउन में वो और उसका इडली मशहूर था, लेकिन में तब भी उसे पसंद नहीं करता था। लेकिन फिर वो धीरे-धीरे जब भी मेरे घर आती थी, वो अपने आपको इस तरह से सजाकर आती थी कि मुझे उसे देखना पड़ जाता था, वो अपनी साड़ी का पल्लू बार-बार गिरा-गिरा के रखती थी, लेकिन एक दिन मैंने उसे नहाकर आते हुए टॉवल लपेटे हुए उसके घर में देख लिया और मुझे वो एक सेकेंड के लिए इतनी सेक्सी लगी कि मैंने अपने घर जा कर मुठ मार लिया, तब से वो रोजाना सेक्सी-सेक्सी साड़ी और नाइटी पहनकर रहती थी और में रोजाना मुठ मारता था।

फिर एक दिन में उसके साथ एक ही ट्रेन में आ रहा था और में उसके कंधे पर अपना सिर रखकर सो गया। फिर जब ट्रेन से उतरने का टाईम आया तो मैंने अपने लंड को उसकी गांड के साथ सटा कर रखा और उसने मुझे देखा, लेकिन वो कुछ नहीं बोली। फिर मैंने सोचा कि उसे अच्छा लगा होगा, फिर एक दिन मेरे घर पर कोई नहीं था, तब में घर में अकेला था सब मुझे छोड़कर बाहर गये हुए थे, क्योंकि मुझे उस टाईम 12वीं क्लास की परीक्षा देनी थी। अब वो मुझे मेरे घर पर खाना देने आती थी, तब मैंने उससे बोला कि वो मेरे घर जब तक सब नहीं आ जाते तब तक सोए, तो वो मान गयी।

फिर एक दिन वो लाल साड़ी में सेक्सी बनकर सोने आई और आकर सीधे अपने कमरे में सो गयी और में दूसरे रूम में सोकर उसके बारे में सोचकर मुठ मार रहा था। तब वो टायलेट जाने के लिए उठी और टी.वी की लाईट जलती देख मेरे रूम में आई, तो उसने देखा कि में मुठ मार रहा था। फिर वो चुपचाप जाकर अपने कमरे में सो गयी और मैंने उसे देखा नहीं कि उसने मुझे देख लिया है। फिर थोड़ी रात हो जाने के बाद में उसके बगल में जाकर सो गया और उसके बूब्स को दबाया और गांड में अपने लंड को सटा कर सो गया। फिर थोड़ी देर तक उसके साथ सो कर में फिर उठकर अपने बेड पर चला गया, लेकिन में सर्प्राइज़ हो गया कि इतना कुछ करने के बाद भी उसकी तरफ से कोई सिग्नल नहीं था। फिर एक दिन मुझे शॉक लगा कि उसका घर चेंज हो गया है, अब वो हमारे घर से 5 मीटर की दूरी के एक घर में रहती थी।

अब मुझे थोड़ा दुख भी हुआ कि अब में उसे रोजाना नहीं देख सकता हूँ, लेकिन मुझे खुशी भी हुई कि वो इतनी दूर चली गयी है, वहाँ बहुत सन्नाटा है और अगर में उसके यहाँ जाता भी हूँ तो मुझे कोई देख भी नहीं सकता है। फिर अचानक एक दिन ऐसा हुआ कि वो मेरी पसंद की एक सफ़ेद कलर की साड़ी पहनकर मेरे घर आई। तब में उसे देखकर आउट ऑफ कंट्रोल हो गया तो मैंने उस दिन डिसाइड कर लिया कि आज में उसे किसी भी हालत में चोद दूँगा और फिर मैंने उसका पीछा किया। फिर जब वो मेरे घर से निकली तो उसने मुझे देख भी लिया। फिर में उसके बगल में जाकर उसके साथ चलने लगा तो उसने मुझसे पूछा कि भाई कुछ काम है क्या? मेरे साथ जा रहा है, तो में बोला कि नहीं अक्का में बोर हो रहा था तो घूमने निकल गया और आपको जाते देखकर आपके पीछे आ गया। फिर हम लोग उसके घर पहुँचे, अब में उसको बाय बोलकर निकल ही रहा था कि उसने बोला कि आओ घर पर कुछ स्नेक्स ख़ा कर जाना तो में अंदर चला गया और देखा तो घर में उसकी दोनों बेटियाँ कोचिंग जाने वाली थी और वो तब ही कोचिंग गयी थी। फिर में अंदर गया और टी.वी देखने लगा। तभी वो किचन में गयी और मैंने उसके पीछे जाकर उसे पीछे से पकड़ लिया। उसने बोला कि छोड़ो, में बोला कि नहीं बहुत दिन तक रोक लिया आज नहीं, आज कुछ हो जाने दो। फिर उसने बोला कि मैंने तुम्हें अपने भाई जैसा देखा है, तो मैंने बोला कि नहीं आज कुछ नहीं, सिर्फ़ हम और तुम है।


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
loading...

और कहानिया

loading...