Hindi Sex Kahaniya & Sex Pictures

Desi Chudai Kahani, Indian Sex Stories, Chudai Pics ,College Girls Pics , Desi Aunty-Bhabhi Nude Pics , Big Boobs Pics

ईशा को घोड़ी बनाकर चोदा

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम साहिल है और में आपके लिए एक और नई स्टोरी लेकर आया हूँ. मुझे चूत चाटने में बहुत मज़ा आता है और औरतों की चूत का पानी पीना मुझे बहुत अच्छा लगता है. मेरा लंड 8 इंच लंबा और 2 इंच मोटा है. दोस्तों ईशा ने मुझसे सेक्स के लिए बोला और उसने मुझसे मेरा वाट्सअप नम्बर भी माँगा. उसके बाद हम वाट्सअप पर बात करने लगे और उसने अपनी फोटो भी शेयर की, वो दिखने में बहुत हॉट और सेक्सी थी.

अब मेरा उसे देखते ही चोदने का मन करने लगा. फिर उसने बताया कि वह शादीशुदा है और उसका एक 3 साल का बच्चा है, उसकी शादी को 5 साल हो गये है और बच्चा होने के बाद उसका उसके पति के साथ रिलेशन अच्छे नहीं रहे और उसका पति भी उसे ढंग से नहीं चोदता है और ना ही उसकी तरफ ध्यान देता है. ईशा ने उसका फिगर 34-30-38 बताया. फिर मैंने ईशा से पूछा कि तुम कहाँ रहती हो? और में तुमसे कहाँ मिल सकता हूँ?

ईशा बोली कि में दिल्ली से हूँ और उसने कहा कि मुझे 2 दिन के बाद कुछ काम से अमृतसर जाना है और में वहाँ एक होटल में रुकूंगी और वही में तुम्हें मिलूंगी. फिर मैंने कहा ठीक है हम 2 दिन के बाद अमृतसर में मिलते है और फिर हम सेक्स की बातें करने लगे. अब सेक्स की बातों के दौरान ईशा सेक्सी आवाज़ें निकालने लगी, ईशा फिंगरिंग कर रही थी और मुझे भी जोश आ रहा था और में भी अपना लंड पकड़कर हिलाने लगा. फिर ईशा ने ज़ोरदार आवाज़ के साथ कहा कि साहिल अब में झड़ने वाली हूँ आआआहह और वो झड़ गई.

फिर 2 दिन के बाद में अमृतसर जाने के लिये निकला और में उसके बताए हुए होटल पर पहुँच गया. फिर जब मैंने ईशा को देखा तो वो क्या मस्त लग रही थी? और फिर उसको देखकर मैंने उससे कहा कि ईशा आज तो तुम कयामत लग रही हो, लगता है जान लेने का इरादा है. फिर उसने कहा कि ऐसा कुछ नहीं है, आज पहली बार किसी अंजान आदमी के साथ अजीब सा लग रहा है.

मैंने कहा कि क्यों घबरा रही हो? जानेमन बहुत मज़ा आयेगा क्यों घबरा रही हो? फिर उसने स्माईल कर दी. फिर हम होटल में एक साथ गये और वहाँ एक रूम बुक किया और हम रूम की चाबी लेकर रूम में एंटर हुए और रूम में आते ही हमने सामान छोड़ा और मैंने ईशा को पीछे से कसकर पकड़ लिया और उसे अपनी और खींच लिया.

फिर उसने कहा कि क्या कर रहे हो? रूको तो पहले सामान तो रख ले. फिर मैंने कहा कि सामान को यहीं रहने दो और मेरे पास आओ, मुझे टाईम ख़राब करना पसंद नहीं है और शरमाना बिल्कुल भी नहीं है और जैसे फर्स्ट टाईम तुमने अपने पति के साथ किया था, मुझे उससे भी ज्यादा तुम्हारे साथ प्यार करना है. फिर मैंने उसे उल्टा करके उसे बेड पर धक्का दे दिया और उस पर टूट पड़ा और उसे लगातार किस करने लगा. अब मेरे हाथ उसके बूब्स पर थे, क्या मस्त बूब्स थे? एकदम फुटबॉल की तरह.

अब में उसे बहुत जोर से सक कर रहा था और जोर से दबा रहा था. अब वो चिल्ला रही थी, साहिल धीरे करो, दर्द हो रहा है. फिर मैंने कहा कि दर्द में ही तो मज़ा है जान और फिर में उसे स्मूच करने लगा, अब वो भी मेरा साथ देने लगी थी. अब उसके दोनों हाथ मेरे बालों में घूम रहे थे, अब ईशा की जीभ मेरी जीभ से टकरा रही थी और अब उसकी साँसे मुझे पागल बना रही थी. उसके होंठो का स्वाद बहुत जबरदस्त था.

फिर में धीरे-धीरे नीचे की तरफ बड़ने लगा और अब मेरा एक हाथ उसके पजामे के ऊपर से ही उसकी चूत पर पहुँच गया और उसे रब करने लगा. अब उसे मज़ा आने लगा था और उसने अपनी टाँगे चौड़ी कर ली थी. अब मेरा एक हाथ उसके बूब्स को प्रेस कर रहा था और में उसके बूब्स पर क़िस कर रहा था.

फिर मैंने उसे उठाकर उसकी कमीज़ उतार दी, उसने अंदर काली ब्रा पहन रखी थी और उसके फुटबॉल जैसे बूब्स ब्रा में क़ैद थे. अब मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने उसे पलट कर उसकी ब्रा के हुक को अपने मुँह से खोलने लगा तो उसे सरसराहट सी होने लगी. फिर ईशा ने कहा कि साहिल गुदगुदी हो रही है तुम हाथ से खोल दो, अब में हुक खोलने में मस्त था और फिर मैंने उसकी ब्रा के हुक खोल दिए और उसके बूब्स को आज़ाद कर दिया. अब उसके बड़े-बड़े निप्पल पूरे आजाद थे. फिर मैंने उसे सीधा करके उसके बूब्स को फिर से अपने मुँह में पूरा डाल लिया और उसके निप्पल को चूसने लगा.

अब में धीरे-धीरे और नीचे बड़ने लगा, उसकी नाभि बहुत गहरी थी और अब में उसकी नाभि में अपनी जीभ घुसा कर चूसने लगा और वो मेरे सर पर अपना हाथ रखकर दबाने लगी. अब उसे गुदगुदी हो रही थी. फिर मैंने उसके पजामे का नाड़ा खोल दिया और एक ही झटके में उसके पजामे को उसकी टांगो से अलग कर दिया. उसने ब्लेक कलर की ही पारदर्शी टाईप बिल्कुल छोटी सी पेंटी पहनी थी, जिससे मुझे उसकी फूली हुई चूत साफ़ नज़र आ रही थी.

फिर मैंने उसकी चूत पर हाथ फेरा और अपने होंठो से उसकी पेंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चूमा, अब उसकी पेंटी गीली हो गई थी और एक बार ईशा झड़ भी गई थी. फिर मैंने उसकी पेंटी को भी खोल दिया और अब ईशा मेरे सामने पूरी नंगी थी, अब वो किसी भी तरीके से एक बच्चे की माँ नहीं लग रही थी. फिर मैंने उसकी टाँगे ऊपर उठाई और अपनी जीभ उसकी चूत में धीरे-धीरे घुमाने लगा और उसकी गीली चूत को चाटने लगा, क्या स्वादिष्ट चूत थी उसकी? ह्म्‍म्म्मम उूउुआअ.

अब मुझे उसकी चूत का बहता हुआ पानी पीने में बहुत मज़ा आ रहा था. फिर उसने अपनी कमर ऊपर उठाकर मेरे मुँह को कसकर अपनी चूत पर दबा दिया तो मुझे और जोश आने लगा. फिर मैंने अपनी जीभ पूरी बाहर निकाल कर ईशा की चूत की गहराई में घुसा दी और फिर उसकी चूत के दाने को अपने दातों में दबाकर जोर-जोर से काटने लगा. अब ईशा चिल्लाने लगी, आआआहाहह साहिल बहुत दर्द हो रहा है, धीरे चाटो, काटो मत, लेकिन में उसकी चूत के दाने को दातों में दबाकर काट रहा था और उसकी चूत का पानी लगातार बहता जा रहा था, जिसे में अपनी जीभ से साफ कर रहा था और मज़े लेकर पी रहा था. तब उसने अपने पूरे शरीर को कसना शुरू कर दिया और मेरे सर को पकड़कर अपनी चूत पर कसकर दबा दिया और आआअहह की आवाज़ निकालते हुए झड़ गई.

फिर मैंने उसकी चूत को साफ कर दिया. फिर में अगले राउंड के लिए तैयार हो गया, उसकी चूत भी काफ़ी टाईट थी और वो ज्यादा चुदी ना होने के कारण वो कुंवारी ही लग रही थी.

फिर मैंने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए, अब ईशा मेरा लंड देखकर पागल सी हो गई थी. फिर मैंने अपना लंड उसके हाथ में दे दिया और उसे चूसने को बोला तो ईशा ने भी बिना देर किए मेरे लंड को अपने मुँह में डाल लिया और लॉलीपोप की तरह चूसने लगी. फिर मैंने उसके बालों को पकड़कर अपने लंड को उसके गले तक उतार दिया और उसके मुँह में जोर-जोर से धक्के मारकर चोदने लगा. अब लगातार उसके मुँह को चोदने के बाद में उसके मुँह में ही झड़ गया और वो मेरा सारा पानी पी गई.

फिर मैंने उसे दोबारा स्मूच करना शुरू कर दिया. अब वो मेरा लंड पकड़कर सहलाने लगी थी तो मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. फिर मैंने ईशा को अपनी टाँगे खोलने को कहा तो उसने अपनी टाँगे खोली. फिर मैंने उसकी टाँगे ऊपर की तरफ उठाई और अपने दोनों हाथों की उंगलियों से उसकी चूत को चौड़ा करने लगा. अब में उसकी चूत को खोलकर अंदर तक झाँक रहा था. फिर ईशा ने पूछा कि क्या कर रहे हो साहिल? मेरी चूत को चीरने का इरादा है क्या? तो मैंने कहा कि में चूत की गहराई देख रहा हूँ कि तुम्हारी चूत अंदर से कितनी लाल है.

फिर मैंने अपना पूरा मुँह उसकी चूत की गहराई में रखकर चूमा और फिर में उसके ऊपर आ गया और उसकी टाँगे उठाकर अपने कंधो पर रख दी और अपना लंड उसकी चूत पर सेट करके एक जोरदार धक्का मारा और अपना सारा लंड उसकी चूत की गहराई में घुसा दिया. पहले से चुदी होने के कारण उसे ज्यादा तकलीफ़ नहीं हुई, लेकिन उसकी चीख निकल गई और उसको काफ़ी टाईम से ना चुदवाने के कारण उसकी चूत टाईट थी. फिर मैंने धीरे-धीरे उसे धक्के मारना शुरू कर दिया और अब उसे भी मज़ा आने लगा था और अब वो भी अपनी कमर उछाल-उछाल कर चुदवाने लगी थी. अब मैंने अपने धक्को की स्पीड और तेज कर दी और लगातार तेज-तेज धक्के मारने लगा. फिर 10 मिनट तक चोदने के बाद मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा और वो घोड़ी बन गई.

फिर मैंने उसे घोड़ी बनाकर चोदा. फिर 5 मिनट तक उसे घोड़ी बनाकर चोदने के बाद फिर उसे अपने ऊपर बैठने को कहा और उसने मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत में डाला और ऊपर नीचे उछलने लगी. अब मुझे भी मज़ा आने लगा था. फिर मैंने उसकी कमर के नीचे हाथ रखा और नीचे से लगातार धक्के मारने लगा और 10 मिनट के बाद में झड़ने लगा. फिर मैंने उससे पूछा कि अपना पानी कहाँ छोड़ू? तो उसने कहा कि मेरे मुँह में छोड़ दो. फिर मैंने अपने धक्के तेज देने शुरू कर दिए और लास्ट 3-4 धक्को में मैंने उसे उठने को कहा और फिर में उसके मुँह में झड़ गया और वो मेरे लंड का सारा पानी पी गई और उसने अपने मुँह से मेरे लंड को साफ किया. फिर में उसके बगल में लेट गया और उस दिन मैंने उसे 3 बार चोदा.

Tags

Hindi Sex Kahaniya & Sex Pictures © 2017