कजिन के साथ मुखमैथुन

loading...

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम अमित है और में मोहाली का रहने वाला हूँ। दोस्तों में पिछले कुछ महीनों से इस साईट पर सेक्सी कहानियाँ पढ़ता आ रहा हूँ और मुझे इसकी सभी कहानियाँ बहुत अच्छी लगती है, जिन्हें पढ़कर मुझे बहुत मज़ा आता है और आज में आप सभी के सामने वैसी ही अपनी एक सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ और में उम्मीद करता हूँ कि जिसको पढ़कर आप सभी को बहुत मज़ा आएगा और दोस्तों सबसे पहले में थोड़ा अपने बारे में भी बता देता हूँ। मेरी उम्र 22 साल हाईट 5.8 इंच और मेरी अच्छी खासी बॉडी है, क्योंकि में हर रोज जिम जाता हूँ।

दोस्तों यह मेरी और मेरी कज़िन बहन जिसका नाम सोनल है, उसकी उम्र 21 साल है और वो भी हर रोज जिम जाया करती है, उसका बदन बहुत आकर्षित है और हर कोई उसका दीवाना है, उसके बूब्स को देखकर में क्या हर कोई पागल हो जाता है, उसके फिगर का साईज 30-28-32 है और वो चंडीगढ़ में रहती है। दोस्तों यह बात आज से एक साल पहले की है, जब में अपनी ताईजी के घर मेरे पेपर खत्म होने के बाद गर्मियों की छुट्टियों में गया हुआ था और उस टाईम उसकी भी गर्मियों की छुट्टियाँ लगी हुई थी तो में जब उनके घर पर पहुंचा तो घर के सब लोग मुझे अचानक आया हुआ देखकर बहुत खुश हुए, क्योंकि में बहुत लंबे समय के बाद उनके घर पर गया था, में सबसे मिला ताईजी, ताऊजी और उनका एक छोटा बेटा जो कि 3rd में पढ़ता है और फिर सोनल से मिला और जब मैंने उसे देखा तो उसने मुझे देखकर स्माईल दी और मुझसे अपना हाल चाल पूछा।

दोस्तों उस समय गरमी कुछ ज्यादा ही थी। फिर में अपनी बातचीत खत्म करके बाथरूम में फ्रेश होने चला गया और उस समय तक मेरे मन में सोनल के लिए कोई ग़लत सोच नहीं थी, लेकिन जब में बाथरूम में नहाने गया तो मेरी नज़र एक साईड में पड़ी टोकरी पर गई और फिर मैंने देखा कि उसमें कुछ कपड़े पड़े हुए है और उन सब कपड़ो के ऊपर एक ब्रा पड़ी हुई थी। दोस्तों वो शायद सोनल की ही थी, क्योंकि मेरी ताईजी की ब्रा का साईज़ बहुत ज़्यादा बड़ा है और वो ब्रा करीब 30 साईज़ की थी। फिर उसे देखकर मेरे मन में एक अजीब सा अहसास आने लगा तो में उसे उठाकर सूंघने लगा और मन ही मन सोनल के बूब्स, गांड और उसके कातिल जिस्म के बारे में सोचने लगा और अब में उन सब में इतना खो गया कि जब में झड़ा तो मेरा वीर्य ब्रा के कफ पर निकल गया।

loading...

फिर मैंने उस ब्रा को पानी से धो दिया और उसी टोकरी में गीला ही वापस से रख दिया और फिर में नहाकर बाहर आ गया। फिर में कमरे में गया और तैयार होकर नाश्ता करने लगा तो इतने में ताई जी ने सोनल से कहा कि जा तू अपने कपड़े धो ले और फिर सोनल ताई जी की यह बात सुनते ही जल्दी से अपने कपड़े धोने बाथरूम में चली गई, लेकिन कुछ देर बाद जब वो कपड़े धोकर बाहर आई तो वो मेरी तरफ कुछ अजीब से तरीके से देख रही थी और मुस्कुरा भी रही थी। फिर में थोड़ा अजीब सा महसूस कर रहा था। फिर में हर रोज की तरह अपने छोटे कज़िन के साथ बाहर मैदान में खेलने लगा और फिर दोपहर निकल गई। फिर शाम को हम सभी लोग कार में बैठकर मार्केट घूमने चले गये, उस समय मेरे ताऊ जी कार चला रहे थे और ताईजी आगे बैठी हुई थी और जाते समय सोनल मेरे एक साईड में बैठ गई और में बीच में बैठा हुआ था और उसका छोटा भाई एक साईड में। दोस्तों मैंने अपने और सोनल के बीच में कुछ दूरी बना रखी थी,


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]

और कहानिया

loading...