काली काली चूत थी उसकी

loading...

हाय दोस्तों मेरा नाम मयंक हे और में एक प्रोफ़ेसर हूँ. मेरी कॉलेज में पढ़ती लगभग सभी लडकिया खुबसूरत हे में हर दिन लडकियों को देखता हूँ. लेकिन दोस्तों सभी लडकियों को में स्टूडेंट के रूप में ही देखता हूँ. लेकिन एक लड़की जो न दिखने में खुबसूरत थी और ना ही कुछ खास बस खास था तो सेक्सी उसकी आवाज और उसकी गांड जिसे देखते ही में फ़िदा हो गया किसी भी तरह में उसकी गांड को पाना चाहता था.

और दोस्तों मेने अपनी कोसिसे सुरु कर दी. में हर वक्त उसके साथ किसी न किसी बहाने से जाया करता था वो भी मेरे पास जाने से खुस हो जाती थी. अब हम दोनों इ याराना हो गया दोस्तों हमारी उम्र में काफी हद तक डिफ्रन्स था लेकिन हम दोनों अब एक दुसरे को चाहने लगे थे.

मेने उससे दोस्ती तो कर ली थी लेकिन में उसकी काली चूत को केसे चोदु उसकी गांड केसे मारू बस यही सोच रहा था. एक दिन में बाजार में खरीदी करने के बहाने से ले के गया जहा थोडा बहुत सामान ख़रीदा और फिर हम दोनों घर आ गए. दोस्तों में अपने घर परिवार के बारे में बताना चाहता हूँ.

loading...

मेरे घर में में और मेरी बीवी हम दो ही हे हमारी शादी को ९ साल हो गए हे लेकिन हमें कोई बच्चा नहीं हे और मेरी बीवी बच्चे नहीं चाहती. वो कभी कभी मेरे साथ सेक्स के लिए रेडी होती हे इस लिए दोस्तों मेरी सेक्स लाइफ कुछ खास नहीं हे.

उन दिनों मेरी बीवी की बहेन की शादी थी तो वो १५ दिनों तक मइके में रहने वाली थी अब मेरे घर में कोई नहीं था में अकेला था तो उस लड़की अरे हां दोस्तों उसका नाम हे रोशनी,  उसे में घर ले आया. वो नहीं जानती थी की घर में मेरी बीवी नहीं हे वो डर डर के अन्दर झांकते हुए कदम उठा रही थी तब मेने उसे बताया रोशनी घबराओ मत मेरी वाइफ घर पर नहीं हे वो १५ दिनों के बाद ही मइके से लोटेगी.

तब जाके वो बेफिक्र से अन्दर आई अन्दर आते ही वो मुझे गले लग गयी जिसकी मुझे जरा सी भी भनक नहीं थी मुझे तो था की सभी बातो को लेकर मुझे ही पहल करनी होगी लेकिन आज तो वो बड़े मुड में थी. वो मेरी बाहों में झूलती रही और मेने भी उसे १० मिनट तक अपनी बाहू में कास के पकड़ा था और झुलाया.

फिर हम दोनो ने सामान मेरे रूम में रख्खा और फिर सोफे पर आके बेठे कुछ देर तक प्यार भरी बाते की फिर फिर मेने उससे सीधे ही सेक्स को लेकर बात छेड़ी तो पहले तो वो हीच खिचाई लेकिन फिर वो मुद में आकर बात करने लगी मेने अपने और मेरी बीवी के सेक्स लाइफ के बारे में उसे सब कुछ बता दिया.

loading...

फिर उसने अपनी कथा सुनाई वो कहने लगी की सेक्स की तमन्ना तो उसे वो जब १२ में थी तब से हे वो तभी से अपनी चूत में उंगलिया करके हर रोज चूत को छोडती हे और चूत को शांत करती हे लेकिन अब दिन गुजरते ही मेरी चूत को उंगलियों से कोई मजा नहीं आता उसे तो लैंड ही चाहिए.


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
loading...

और कहानिया

loading...