दोस्त की गर्लफ्रेंड की गांड फाड़ी

loading...

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रोहित है और में हरियाणा का रहने वाला हूँ, लेकिन अभी में इस समय चेन्नई में रहकर नौकरी कर रहा हूँ. दोस्तों यह मेरी आज की कहानी मेरी और मेरी एक बहुत अच्छी दोस्त जानवी के बीच हुए सेक्स की एक सच्ची दास्तान है. दोस्तों जानवी दिखने में थोड़ी मोटी है, उसके फिगर का साईज 38-34-40 है और उसकी जांघे भी थोड़ी भारी है, वो दिखने में बिल्कुल गोरी है और में उसके सामने पतला लगता हूँ. दोस्तों अब में सीधा अपनी आज की कहानी पर आता हूँ.

दोस्तों यह तब की बात है जब में मेरे इंजिनियरिंग के 4th साल में यूनिवर्सिटी में पढ़ रहा था और में उस समय अपने कॉलेज में एक योगा वर्क शॉप का ऑर्गनाइज़र भी था और उस वर्कशॉप के लिए जानवी जब आई तो मैंने उसे देखा तो वो दिखने में बहुत सुंदर लग रही थी और उसने अपने हाथों और पैरों में लाल कलर की नेल पोलिश लगाई हुई थी और उसने एक पंजाबी सलवार सूट पहना हुआ था, वो उस समय पूरी वर्कशॉप में बहुत सुंदर दिख रही थी, लेकिन मेरी उससे कुछ बात नहीं हुई और उस वर्कशॉप के आखरी में हमने एक छोटी सी पार्टी रखी और जिसमें सभी लोग सिर्फ़ अपने जोड़े से वहां पर आना था.

फिर में अपनी गर्लफ्रेंड के साथ वहां पर चला गया, लेकिन वो अपने किसी दोस्त के साथ आई हुई थी जो उसका बॉयफ्रेंड नहीं था. वो पार्टी के आखरी में वो उदास खड़ी हुई थी. फिर मैंने उससे बात शुरू करने के लिए वैसे ही पूछा कि वर्कशॉप कैसी लगी और तुम ऐसे उदास क्यों खड़ी हुई हो? तो उसने मुझे बताया कि उसके बॉयफ्रेंड को यहाँ पर आना था, लेकिन वो नहीं आया तो इसलिए वो इतनी उदास है.

loading...

फिर मैंने उससे मुस्कुराकर कहा कि कोई बात नहीं हम है ना और फिर वो मेरी यह बात सुनकर हंस गई और वो बस मुझसे मेरा नाम पूछकर हंसकर चली गयी. फिर उसी रात मैंने उसे फ़ेसबुक पर अपना दोस्त बनने का आग्रह भेजा और फिर हमारी चेटिंग शुरू हुई और पहले ही दिन में मैंने उससे कह दिया कि वो बहुत सुंदर है और फिर उसने कहा कि नहीं यार में बहुत मोटी हूँ. फिर मैंने कहा कि मुझे मोटी लड़कियाँ पसंद है तो वो अब मेरी सभी बातों को मज़ाक समझने लगी और मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछने लगी तो मैंने उसे बता दिया कि हम बस सिर्फ एक बहुत अच्छे दोस्त है और इससे ज़्यादा हमारे बीच में कुछ नहीं है.

फिर मैंने उससे पूछा तो उसने मुझे बताया कि उसके बॉयफ्रेंड का नाम दीपेश है. फिर मैंने उससे कहा कि क्या में तुमसे एक दोस्त बनकर एक सवाल पूछ सकता हूँ? तो उसने मुझसे तुरंत हाँ कहा. फिर मैंने उससे पूछा कि क्या तुमने कभी किसी को किस किया है तो मुझे लगा कि वो जवाब नहीं देगी, लेकिन दोस्तों वो तो एकदम खुले दिमाग़ की थी और फिर उसने कुछ देर बाद कहा कि हाँ किया है.

फिर मैंने सोचा कि इससे अब और कुछ पूछता हूँ और अब तो मेरे पूछने पर उसने मुझे यह भी बता दिया कि उसने बहुत बार सेक्स भी किया है और वो अपने बॉयफ्रेंड के साथ महीने में एक बार ज़रूर करती है. फिर मैंने उससे सब कुछ विस्तार में पूछना शुरू किया कि उसका बॉयफ्रेंड उसकी चूत चाटता है या नहीं और अब तक किस किस पोज़िशन में उन्होने चुदाई की है और उससे पूछते पूछते मैंने भी उसे बता दिया कि मुझे चूत चाटना और गांड को किस करना बहुत अच्छा लगता है. फिर उसने मज़ाक में मुझसे कहा कि कभी मुझे अपनी चूत को ठंडी करनी होगी तो में तुमसे करवा लूँगी और फिर मैंने बहुत खुश होकर उससे हाँ कह दिया.

फिर मैंने सोच लिया कि में अपने कॉलेज से जाने से पहले एक बार इसे जरुर चोदकर जाऊंगा और में हमेशा उसे बातों ही बातों में बोलने लगा कि प्लीज मुझे भी कभी मौका दे दो ना और मेरे बहुत बोलने के बाद वो एक दिन मुझसे एक पार्क में मिलने आई और फिर मुझसे कहा कि में कुछ नहीं करने दूँगी.

loading...

फिर मैंने उससे कहा कि मैंने बस उसे यहाँ पर बात करने के लिए बुलाया है और अब में उसका हाथ पकड़कर बैठा रहा और बातों में उससे यही पूछता रहा कि उसे क्या क्या करने में मज़ा आता है? वो मुझसे बहुत खुलकर बातें कर रही थी, लेकिन अब उसकी सांसे थोड़ी थोड़ी तेज़ हो गई थी. फिर मैंने उससे कहा कि क्या हुआ? तो वो मुझसे कुछ नहीं ऐसी बातें ना कर और शरमा गई, अब में समझ गया कि लोहा गरम होने लगा है तो बातों में मैंने उससे कहा कि चल आजा नाईट पर चलते है. फिर वो कहने लगी कि नहीं तेरे इरादे कुछ ठीक नहीं है. फिर मैंने कहा कि तू भी तो अब यही चाहती है और वो शरमा गई और मुझसे कहने लगी कि उसके होस्टल का टाईम हो रहा है और फिर जाने लगी.

फिर मैंने उससे पीछे से पूछा कि यार क्या में आज नाईट में आ जाऊँ? वो हंसकर जीभ दिखाकर चली गई और रात को जब मैंने उसे फोन किया तो मैंने वही बात की और वो मुझसे कहने लगी कि नहीं मेरा बॉयफ्रेंड तेरा भी दोस्त है तो यह सब तेरे साथ नहीं. फिर मैंने उससे बोला कि यार बस एक बार उसे भूलकर खुद के लिए जी और अब में उसे भावुक करने लगा और उससे कहने लगा कि तू मुझे अपना दोस्त नहीं मानती.

मैंने उससे और भी बहुत कुछ कहा और बहुत देर तक मनाने के बाद उसने कहा कि ठीक है, लेकिन तुम मुझे छूना भी नहीं. फिर मैंने हाँ बोल दिया और मन ही मन सोचने लगा कि में तुम्हे छू तो जरुर लूँगा और फिर हमने प्लान बनाया कि अगले सप्ताह से होली की छुट्टियाँ शुरू है और जो कि 6 दिन की है तो हम एक दिन नाईट में साथ में रहेगे और उसके बाद में अपने अपने घर पर चले जाएँगे और फिर उसने मुझसे कहा कि यह बात किसी और को मत बताना.

मैंने ठीक है कहा और उस दिन का इंतजार करने लगा और बहुत मुश्किल से मैंने पांच सेक्स की गोलियां खरीदी और उसे वोड्का पसंद थी तो मैंने वो भी ले ली और उसने मुझे शाम के 7 बजे मेरी बाईक लेकर अपने होस्टल के बाहर बुलाया और कहा कि तुम हेलमेट पहनकर आना ताकि कोई तुम्हे पहचाने नहीं और वो खुद भी अपना मुहं एक कपड़े से ढककर आई और पास में ही एक पुराना होटल था और जहाँ पर मैंने एक रूम बुक किया हुआ था, वहाँ पर हमने एक भाई बहन बनकर प्रवेश किया और फिर अपने रूम में गये और उसने अपने मुहं से कपड़ा हठाया तो मैंने देखा कि वो लाल रंग की लिपस्टिक लगाकर आई हुई थी और जो बहुत मस्त लग रही थी.

मैंने उससे कहा कि में बाहर से खाना लेकर आता हूँ और वो मेरा इंतजार करे. फिर में खाना लाने चला गया तो मैंने एक कामसूत्र का हनिमून पेक ले लिया और रूम में आ गया, में रूम में घुसा तो मैंने देखा कि उसने अपने कपड़े बदलकर नाईट सूट पहन लिया है और वो अपने फोन पर बॉयफ्रेंड से बात कर रही ही और नाईट सूट में उसने एक गहरे गले का टॉप पहना हुआ था और जिसमें से उसकी छाती साफ साफ नजर आ रही थी और एक टाईट केफ्री पहनी हुई थी और उस केफ्री में से उसके पैर बहुत भारी और सुडोल लग रहे थे. उसने फोन रखते हुए उससे कहा कि ठीक है बाद में बात करती हूँ. फिर मैंने उससे कहा कि अब में भी कपड़े बदल लेता हूँ और फिर हम साथ में खाना खाएगें.

फिर मैंने उससे पूछा कि तुम्हे कोई दिक्कत तो नहीं है मेरे नाईट सूट से और फिर मैंने उसे एक शर्ट दिखाई जिसको देखकर वो हंस पड़ी और बोली कि कोई समस्या नहीं है और अब में बाथरूम में चला गया और में अपनी अंडरवियर को भी उतारकर सिर्फ़ शर्ट में बाहर आ गया और फिर हमने वोड्का के साथ खाना खाना शुरू किया. तभी उसका कोई फोन आया और जब वो बात करने उठकर चली गई तो मैंने चुपके से उसकी वोड्का में तीन सेक्स की गोलियों को डाल दिया और मैंने खुद भी दो गोलियां खा ली.

मैंने उसके आने से पहले खाना खा लिया था, लेकिन ड्रिंक पूरी नहीं पी थी और जब उसने खाना खत्म किया था. फिर उसे थोड़ा नशा होने लगा और वो मेरे साथ बेड पर बैठ गई और तभी मैंने एकदम से अपना पूरा ड्रिंक खत्म किया और उसके कंधे पर हाथ रख दिया. अब उसने मुझसे बिना कुछ कहे मेरे कंधे पर अपना सर रख दिया और मुझसे बातें करने लगी और बातों ही बातों में वो मेरी जांघ पर हाथ चलाने लगी और मेरी तरफ गिरने लगी और अब मुझ पर भी उस गोली का असर हो रहा था और अब तक मेरा लंड तनकर खड़ा हो चुका था.


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
loading...

और कहानिया

loading...