Hindi Sex Kahaniya & Sex Pictures

Desi Chudai Kahani, Indian Sex Stories, Chudai Pics ,College Girls Pics , Desi Aunty-Bhabhi Nude Pics , Big Boobs Pics

नौकरी में चोदने को मिली छोकरी

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम आर्यन है. में फिर से आपके लिए एक नई स्टोरी लेकर आया हूँ. में राजकोट (गुजरात) का रहने वाला हूँ और में दिखने में अच्छा हूँ, मेरी 22 साल है और जिम में जाने की वजह से मेरी बॉडी अच्छी भी है. अब में आपका समय ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ.

ये स्टोरी एक लड़की की है, जिसका नाम रूपा है. मैंने अभी 2 महीने पहले ही एक नई कंपनी जॉइन की है और में वहाँ चीफ अकाउंटेंट की पोस्ट पर हूँ. रूपा भी वही काम करती है और वो क्लर्क की पोस्ट पर है, वो दिखने में तो ठीकठाक है, वो बहुत सुंदर तो नहीं है, लेकिन उसका फिगर काफ़ी अच्छा है. में पहले तो उसे लाईन नहीं देता था, क्योंकि वहाँ पर एक और लड़की थी तो में उसी पर लाईन मारता था, लेकिन एक तो वो शादीशुदा थी और उसका मेरे बॉस के साथ अफेयर भी चल रहा था, तो मैंने सोचा कि चलो अब ये तो अपने हाथ नहीं आएगी.

अब रूपा मुझे ऐसे देखती थी कि मुझे पता चल गया था कि में उसे पसंद हूँ, लेकिन मैंने कभी इसके आगे सोचा ही नहीं था. फिर एक दिन ऐसा हुआ कि मुझे सबके फोटो और आई-डी प्रूफ चाहिए था, तो मैंने सुरेश से बोला कि सबके 2 फोटो और एक आई-डी प्रूफ मंगवा लेना.

फिर रूपा ऑफिस साफ़ करने आई तो मैंने बोला कि रूपा तुम्हारा फोटो और आई-डी प्रूफ चाहिए, तो उसने कहा कि मेरा फोटो जेब में रखोगे क्या? तब मुझे लगा कि चलो कोई नहीं तो यही सही, कुछ तो हाथ लगा ही तो काम कर ही लेते है. फिर मैंने कहा कि जेब में रखकर क्या करूँगा? और अगर कुछ करना ही है तो तुम तो रोज सामने ही होती हो, में फोटो के साथ क्या कर सकता हूँ? तो वो हंसकर बोली कि अच्छा तो मैंने कब रोका है? अब में तो ये सुनकर चौंक गया था, लेकिन फिर वो अपना काम करने लगी और सामने देखकर हंसने लगी.

फिर तो यह रोज का हो गया था, अब वो मेरा ऑफिस साफ़ करने आती और सामने से स्माइल देती, अब हम लोग कुछ बातें करते और वो चली जाती. अब मुझे पता चल गया था कि वो मुझसे चुदवाने के लिए तैयार है, सिर्फ़ सही मौका चाहिए जिससे में उसे चोद सकूँ और फिर भगवान ने मेरी सुन ली. शायद 20 दिन के बाद जब बॉस काम पर नहीं आए थे और कुछ ज़्यादा काम भी नहीं था तो मैंने सब वर्कर को 5 बजे ही छुट्टी दे दी, लेकिन में रुका, मुझे थोड़ा काम भी था और रूपा को चोदना भी था.

अब सब जा रहे थे, इतने में बॉस की आइटम मेरे पास आई और बोली कि चलो में जाती हूँ, तुम्हें नहीं आना है. फिर मैंने कहा कि आज थोड़ा काम बाकी है तो मुझे अभी 1 या 2 घंटे लग जाएगें. फिर वो बोली कि ठीक है मैंने सोचा था कि कही बाहर कॉफी पियेंगे और आज बॉस भी नहीं थे. लेकिन मुझे तो अभी रूपा को चोदना था इसलिए मैंने कहा कि रोज बॉस के साथ पीती तो हो, तो आज क्या है?

तो वो बोली कि हाँ पीनी पड़ती है, मुझे उसके साथ कॉफ़ी पीने का शौक नहीं है, लेकिन क्या करें? फिर मैंने बोला कि ठीक है तुम जाओ, मुझे थोड़ा काम है और कहा कि यार कल मुझे बाहर जाना है और क्लाइंट भी आने वाले तो ऑफिस को साफ़ करवाना है.

फिर उसने कहा कि रूपा को बोलो कि कर दे. फिर मैंने कहा कि नहीं उसे लगेगा कि सब चले गये और मुझे रोके रखा है. फिर उसने कहा नहीं, चलो में बात करती हूँ और वो चली गयी. अब में मन ही मन में बहुत खुश हो रहा था कि आज काम हो गया तो मज़ा आ जाएगा. फिर थोड़ी देर में वो आई और स्माइल देकर बोली कि बोलो क्या काम करना है? तो मैंने कहा कि थोड़ी सफाई करनी है, कर दोगी? तो उसने कहा कि हाँ क्यों नहीं? आप बताओं क्या करना है? में कर दूँगी. फिर मैंने उसे पंखा साफ करने को बोला और एक टेबल दी, जो बैलेन्स नहीं रहती थी.

फिर वो टेबल पर चढ़ गयी और पंखा साफ करने लगी. फिर टेबल के हिलने की वजह से वो नीचे उतर गयी और फिर चढ़ी और फिर उतर गयी. फिर बाद में वो बोली कि अगर आप टेबल पकड़ो तो में ठीक से साफ कर सकती हूँ. फिर मैंने बोला कि टेबल छोटा है, में ठीक से नहीं पकड़ सकता, अगर तुम्हें प्रोब्लम ना हो तो में तुम्हें पकड़ लूँ. फिर वो हंसकर टेबल के ऊपर चढ़ गयी और मेरे सामने देखने लगी.

फिर मैंने उसके पास जाकर उसकी कमर पर अपना हाथ रखकर उसे पकड़ लिया और वो साफ करने लगी. फिर धीरे-धीरे में उसकी कमर को कसता गया और अपना हाथ उसकी कमर पर फैरता गया. फिर बाद में मैंने अपने हाथ को और ऊपर किया और जैसे ही मेरा हाथ उसकी ब्रा को ऊपर से टच हुआ तो वो बोली बस अब रहने दो वरना आपका ऑफिस साफ नहीं होगा.

अब मुझे पता चल गया था कि अब वो मना नहीं करेगी इसलिए मैंने कहा कि ऑफिस साफ किसको करना है, मुझे तो ऑफिस गंदा करना है और उसे कमर से उठाकर अपनी बाहों में ले लिया और उसके होंठो पर एक मस्त किस दे दिया.

अब वो बस अपनी आँखे बंद करके खड़ी थी. फिर मैंने उससे पूछा कि अगर पसंद नहीं हो तो मना कर दो में रुक जाता हूँ. फिर वो बोली कि पसंद नहीं होता तो मेडम ने जब कहा कि ऑफिस साफ कर दो, तभी मना कर देती. फिर में उसे फिर से किस करने लगा और साथ में उसके बाल भी खोल दिए और पीछे से उसकी ड्रेस की चैन खोलने लगा. अब वो चुपचाप किस किए जा रही थी.

फिर मैंने चैन खोलकर उसकी ड्रेस को उतार दिया और अब वो मेरे सामने सिर्फ़ ब्रा में थी, उसकी ब्रा तो ठीक थी, लेकिन उसके बूब्स कमाल के थे यार, उसके बूब्स बहुत बड़े थे. फिर में झट से उसके बूब्स पर टूट पड़ा और उसकी ब्रा को खींचने लगा तो वो बोली कि अरे आराम से करो दर्द होता है.

फिर उसने अपनी ब्रा उतार डाली और अब उसके नंगे बूब्स सिर्फ़ मेरे सामने थे और में पागलों की तरह उसके बूब्स चूसता रहा और कभी बाईट काटता तो वो आहहह करके आहें भरती और मेरे सिर पर अपना हाथ फैरती और आराम से करो आराम से कहती, लेकिन अब में तो बस उसके बूब्स चूसे ही जा रहा था, क्या बताऊँ यार कितने मस्त बूब्स थे? उसके निप्पल इतने तने हुए थे कि मुझे मज़ा आ गया था. फिर मैंने उसके बाकी के कपड़े भी उतार दिए.

अब वो सिर्फ़ मेरे सामने पेंटी में थी और सच बोलूँ तो बस मन कर रहा था कि उसकी पेंटी को फाड़कर उसको चोद डालूँ, लेकिन मैंने अपने आप पर कंट्रोल किया और उसकी पेंटी निकाली तो अब उसकी छोटी सी चूत मेरे सामने थी और उस पर बाल भी थे, लेकिन बहुत ज़्यादा नहीं थे. फिर मैंने उसको सोफे पर लेटा दिया और उसकी चूत को चाटने लगा. अब वो अहहहहा मुउहह करते रहो मज़ा आ रहा है करती रही और में कभी-कभी उसकी चूत के लिप्स को काट भी लेता था, जिससे वो सहम जाती थी और मेरा सिर उसकी चूत की और दबा देती थी.

फिर मैंने उसकी चूत में अपनी एक उंगली डाली और अपनी जीभ से चाटने लगा और अपनी उंगली अंदर बाहर करने लगा. फिर मैंने अपनी 2 उंगली उसकी चूत में डाली और फिंगर फुक करने लगा और उसकी चूत को भी चाटता रहा. फिर थोड़ी देर में वो झड़ गयी और फिर उसने मेरा सिर उसकी चूत पर दबा दिया, जिससे उसका पूरा माल मेरे सिर पर आ गया.

फिर बाद में उसने माफी माँगी और सॉरी बोला. फिर मैंने अपनी शर्ट उतारी और पेंट भी उतार डाली. फिर मैंने उससे अपना लंड बाहर निकालने को कहा, तो फिर वो मेरा लंड बाहर निकालकर खेलने लगी. फिर मैंने उसे अपने मुँह में लेने को कहा तो उसने मना कर दिया और बोली कि बुरा मत मानना मुझे ये सब पसंद नहीं है तो मैंने कहा कि ठीक है मुँह में मत लेना सिर्फ़ अपनी जीभ से तो चाटो, तो वो ऐसा करने लगी. फिर थोड़ी देर तक करने के बाद उसने कहा कि बस अब और नहीं प्लीज. फिर मैंने उसको सीधा लेटा दिया और अपना लंड उसकी चूत के अंदर डाल दिया और धीरे-धीरे अंदर बाहर करने लगा.

फिर धीरे-धीरे मैंने अपनी स्पीड थोड़ी बढाई तो वो तेज आहे भरने लगी आह ऑश करते रहो. फिर करीब 5 मिनट के बाद मैंने अपनी पोज़िशन बदल डाली और में उसे डॉगी स्टाइल में चोदने लगा. अब में जैसे ही मेरा लंड उसकी चूत के अंदर डालता तो वो अहह करती, फिर दूसरे शॉट में फिर से आहह ऊहह मज़ा आ रहा है करते रहो करने लगती. फिर मैंने उसके बाल पकड़े और जोर-जोर से सेक्स करने लगा और वो दर्द के मारे आहहहह दर्द हो रहा है करती रही और में और तेज होता गया.

फिर थोड़ी देर के बाद में झड़ने वाला था तो मैंने उससे कहा कि में झड़ने वाला हूँ. फिर उसने कहा कि अंदर नहीं प्लीज और मैंने उसके बूब्स पर ही अपना सारा माल झाड़ दिया और फिर शांत हो गया और उसके पास वाले सोफे पर बैठ गया. फिर उसने कहा कि बहुत मज़ा आया आप कमाल के हो और फिर थोड़ी देर के बाद मैंने फिर से उसको किस करना शुरू कर दिया और वो भी मेरा साथ देने लगी.

फिर उसने मुझे धक्का मारकर दूर कर दिया तो मैंने कहा कि क्या हुआ? तो उसने कहा कि 50 मिनट हो गये है सब चले गये है और अब मुझे भी घर जाना है, अब बाद में करना जो करना हो, अभी मुझे जाना है और फिर वो अपने कपड़े पहनने लगी. फिर मैंने कहा प्लीज एक और बार, मुझे अभी करना है, लेकिन वो नहीं मानी और चली गयी. दोस्तों उसी दिन से हमारे सेक्स का सिलसिला चल शुरू हो गया और फिर बाद में हमें जब भी सेक्स करने का मौका मिला तो हमने सेक्स किया.

Tags

Hindi Sex Kahaniya & Sex Pictures © 2017