पूजा ने निह्लाया अपनी चूत के पानी में

loading...

आज मैं आपको पूजा की के साथ अपनी चूत चुदाई की कहानी सुनाने जा रहा हूँ जीसी चूत चुदाई का दिन मेरे लिए आज भी उतना ही माईने रखता है जीतना उसे चोदते वक्त कर रहा था | वो मेरे घर पर नौकरानी का काम करती थी और उसकी रसीली जवानी में ही मैं उसका दीवाना बन चूका था | वो काम किया करती थी और मैं बस उसे चुपके चुपके देखा करता था | जब वो बाथरूम में कपडे धोअया करती थी तो मैं उसकी गांड को उठक – बैठक करते हुए तन जाया करते थे और किचन में उसे बतरन धोते वक्त उसके चुचियों को देख मिसमिसा सा जाता था | वो ही अब मेरे हस्थमैथुन की वजह भी बन चुकी थी | मेरे दिन रात दिमाक में बस पूजा की का गठीला बदन ही घुमा करता था |

एक दिन भरी दोपहर में मेरे घर पर कोई भी नहीं था और पूजा काम के लिए | मैं उसे बाथरूम में कुछ कपडे धिकाए जिनमें से मेरी चड्डी भी थी | मैंने देखा की उसे कपडे धोना चालू कर दिया है तो मैं बस चुपके चुपके उसकी गांड को देख रहा था इतने में मैंने देखा की वो चुपके से मेरी चड्डी को उठाकर सूंघ रही है | मैं तो भौंचक्का ही रह गया | मेरा लंड एक दम से टन गया और वो मज़े में मेरे मेरी चड्डी को ही सूंघ रही थी | मुझसे रुका न गया और मैंने बाथरूम में जाकर उसे दबोच लिया और कहा, बहुत हो चुपके चुपके दिल बहलाना जानेमन .. !! चलो अब कुछ असली खेल कहला जाए | उसके चेहरे के भाव देकर ऐसा लग रहा था वो तो जैसे इस दिन को कबसे पाने के लिए तरस रही थी |


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
loading...

और कहानिया

loading...