Hindi Sex Kahaniya & Sex Pictures

Desi Chudai Kahani, Indian Sex Stories, Chudai Pics ,College Girls Pics , Desi Aunty-Bhabhi Nude Pics , Big Boobs Pics

मकान मालकिन को चोद कर अपनी गर्लफ्रेंड बनाया

हलो दोसतो मेरा नाम रवी हे और मे मुबई का रहने वाला हु। मेरी उमर 23 साल हे.मे 17 साल की उमर से अनतरनासना की कहानीया पड रहा हु। ईस लीऐ मे सेकसी भाभी और आटीयो को देख कर अकसर उनहे चोदने के सपने देखता रहेता था। पर मुजे 20 साल की उमर तक चुत के दशन नही हवे थे। मे 19 साल की उमर मे पढाई के लीऐ मे दुसरे शहेर गया। मे वहा ऐक साल होसटेल मे रहा पर मुजे वहा रहने मे मजा नही आर था। ईस लीऐ मे और मेरे दो दोसत ने मीलकर कीराये पर ऐक घर लीया था। घर के मालीक भी बाजु के घर मे ही रहते थे। उनके घर मे वो और उनकी बीवी रहती थी।
उनकी शादी को दस साल हो चुके थे पर उनकी कोय अोलाद नही थी। ईस लीई आटी और अकल सब बचो से बडे पयार से रहेते थे। आटी का नाम नीलीमा था और उनकी उमर 30 साल थी। जब मेने पहली बार उने देखा तो मे बस उने ही देखता रहा। अब तक मेने कीतनी अाटीयो को देखा पर ईतनी खुब सुरत आटी को देख कर सबको भुल गया।मेने तभी तय कर लीया था की पढई खतम होने तक ईस घर कही नही जाउगा।
उने देख कर कीसी को भी ऐसा ही लगे गा की वो 22 साल की लडकी हे। उनका मासुम चहेरा और पतली गोरी कमर देख कर मुजे उनसे पयार हो गया। अकल की गोलड की दुका थी। ईस लीऐ वो सुबह जाते और शाम को घर आते थे। मेरे दोसतो के
घर नजदीक थे ईस वजसे वो दोनो दो ऐक दीन की चुटी मे भी घर जाकर आते थे। ईस वजसे मे अकसर घर मे अकेला ही रहेता था और मे घर पर टाईम पास करने के लीऐ सला जाता था। ईस तरहा मेरी और अकल आटी की अची जान पहेचान हो गई। ऐसे ही चार-पाच महीने नीकल गये। तब मे शाम को ही उनके घर जाता था। फीर जभी मेरे दोसत उनके घर जाते तब आटी को मीलने के लीऐ कीसी भी बहाने से जाने लगा। आटी घर पर साडी पहेन कर ही रहेती थी ईस लीऐ मुजे आटी की गोरी कमर और कभी गोरे बोल के भी दशन हो जाते थे। मे रोज आटी के नाम के मुठ मारा करता था। ईस तरहा
मेरी और आटूी की अची दोसती हो गई। ऐक बार अकल को कीसी काम से हफते के लीऐ बहार जाना था और आटी रात को अकेली रहने वाली थी ईस वहजसे अकल ने मुजे
रात को उनके घर सोने जाने का अागरह कीया। ये सुन कर मुजे अपनी और आटी की चुदाई का सपना चस होता नजर आरहाथा और मेने तुरत हा कह दी।सुबह अकल अपने काम के लीऐ नीकल गये और अब मे रात होने का ईतजार करने लगा। खाना खाने के बाद मे आटी के घर गया। मे घर पहुचा तब तक आटी ने भी खाना खा लीया था। फीर
थोडी देर बातचीत करने के बाद मुजे दुसरे बेडरुम की और ईसारा करते हुवे कहने लगी की तुम ईस बेडरुम मे सो जाना। फीर वो अपने रुम मे चली गई।उस रात मे अाटी को चोदने के पेलान बना ने लगा। अाटी ऐक सीघी सादी औरत थी ईस लीऐ मे समज गया था की जेसे मेने अनतरवास ना की कहानीयो मे पढाथा की सेकसी मुवी दीखाने से या फीर अपना लड दीखा कर वो अपनी चुत नही देने वाली थी। मेने रात को बहुत सोचा तब मुजे ऐक आईडीया आया। मेने अपने रुम को पखे को रात मे ही बीगाड दीया और होल मे जाके पता लगाया की लाईट की मेन सवीस कहा पर हे वो पता लगाया।फीर मे काम की चीजे तलास कर रहा था। तभी मुजे बाथरुम मे आटी की गुलाबी ब्रा और काली पेनटी दीखी। मेने वो ब्रा और पेनटी लेके उसे नाक के पास रख कर मे आटी की चुत की मादक खुसबु सुगने लगा। फीर उसे मेरे लड पर रख कर मुठ मारने लगा। पहली बार कीसीकी पेनटी से मुठ मारे थे बहुत मजा आया था उस दीन।फीर रुम मे जाके सो गया। सुबह मे जलदी उठा तो देखा की आटी नहाने के लीऐ जा रही थी।तब उनोने काले रग की नाईटी पहनी हुई थी।उसे देख कर मन करहा था की अभी नगी कर के चाद दु। पर मेने अपने लड को सभाल ते हुऐ अपने रुमे जा कर मुठ मारने लगा।फीर मे दुकान जा कर वाईगरा की गोली लेली और मे रात होने का ईतजार करने लगा।रात को मे आटी के घर जलदी चला गया तभी आटी खाना खा रही थी। खाना खा कर जब हाथ घोने के लीऐ बाथरुम मे गई तो मेने तुरत वाईगरा का पाउडर आटी के पानी मे डाल दीया और वो पानी आटी ने पी लीया।थोडी देर बाद वो सोने सली गई और
अपना दरवाजा बद करदीया।५ मिनिट बाद मेने दरवाजा थोक कर उने बुलाया और कहा की पखा बीगड गया हे।आटी ने उस रुम मे जा कर देखा तो पखा नही चल रहा था ईस लीऐ थोडा सोचने के बाद कहा की मेरे रुम का बेड बडा हे तो उघर दो जन आराम से सोयेगे।फीर मे आटी के पीसे पीसे रुम मे आगया।उस दीन वो साडी पहेन कर ही बेड पर आगई।आटी के उस रुम मे टीवी था और वो होलीवुड की मुवी देख रही थी। जो मेने पहले से देखी हुई थी ईस लीऐ मुजे पता था की मुवी मे कब सेकसी सीन आने वाले हे।थोडी देर मे दवाई भी अपना असर कर रही थी और आटी अपनी जाघो को
घीस कर अपनी चुत मसल ने लगी।मुवी मे सेकसी सीन थोडी देर मे ही आने वाला था ईस मे बाथरुम का बहाना कर के रुम मे नीकल गया और थोडा दरवाजा खुला रख कर बाहार से ही आटी को देख ने लगा।मे रुम मे ना होने के कारन आटी अपने हाथ को चुत पर रख कर जोर जोर से मसल ने लगी। मे समज गया की अब आटी को कीसी का भी लड मीले तो खुसी से चुदवा लेगी।पर मेने चोसा का लाईके उजाले मे आटी को चुदवा ने मे शरमा ने लगे ईस लीऐ मेने लाईट की मेन सवीस बद कर दी और रुम मे जाके आटी से कहा की महोले मे लाईट चली गई हे। फीर मे बेड पर लेट के सोने का नाटक करने लगा।रुम मे अघेरा होने के कारन आटी बीना टेनसन लीये हुऐ अपनी चुत मसल ने लगी।थोडी देर बाद मेने हिमत कर के आटी के नजदीक गया और अपना ऐक हाथ को आटी की चुत पर रख कर सहेलाने लगा और घीरे से कहा मेरी जान मे कुस ममद करु।आटी पहले से बहुत गम हो चुकी थी इस वजसे आटी ने अपने हाथ से मेरे हाथ को अपनी गम गम चुत पर रख कर कहने लगी’ईस की आग बुजा दो मेरे राजा’।
ईस हालात मे मेरा लड भी अपनी आटी की चुत मे जाने के लीऐ बे करार हो रहा था।
फीर मेने आटी के होथो को चुमना चालु काया।आटी भी मेरा पुरा साथ दे रही थी और हम दोनो ऐक दुस रे को पागल पेमी के जेसे कीस करने लगे।थोडी देर बाद मेने आटी के बोल पर हाथ रख कर दबाने लगा और आटी चीला ने लगी…आआआआआआईईईईईआआआइइअअअअअअअअअअअअअअ
आटी के बोल रु जेसे मुलायम थे और ईसे हाथो मे पकड कर पयार करना सपना था मेरा जो अाज रात पुरा हो रहा था।फीर मेने ब्लाउज निकाला तो आंटी की सफ़ेद रंग की ब्रा दिखाई दी। आंटी के आधे बोल ब्रा मेसे बहार निकले हुवे थेय़ आंटी के दूध जैसे सफ़ेद बोल देख कर में उन पर टूट पड़ा और जोर जोर से दबा ने लगा और काटने लगा। आंटी को तब बहुत मज़ा आरहा था और दर्द भी हो रहा था इस लिए वो चील ने लगी…आआआआआआईईईईईईअअअअअअअ……
फीर मेेने ब्रा नीकाल कर बोल को खुला कर दीया और पयार से चुचने लगा।
अब मेने आटी को पुरी नगी करदी और बेड पे लेटा दीया और चुत पर हाथ फेरने लगा तब आटी की पुरी चुत गीली हो चुकी थी।फीर मेने अपना मुहको चुत के आगे लेजा के अपनी जीभ से चाटने लगा और आटी जोर जोर से बोल ने लगी…फक मी…फक मी बेबी…..आआआआआईईईइइइइइएएएएअअअअ्
थोडी देर मे आटी अपनी चुत से पानी चोडने लगी और मेरा पुरा मुह पानी से भर गया।
फीर मेने अपने लड को आटी के मुह के सामने रख कर रहा मेरी जान ईसे भी पयार करो और आंटी ने जल्दी से मेरे लन्ड को अपने मुमे दाल कर लॉलीपॉप के जैसे चाटने लगी। मेरा पूरा लन्ड आंटी अपने मुमे ले रही थी। थोड़ी देर बाद मेरे लन्ड ने अपना सारा पानी आंटी के मुमे ही छोड़ दिया और आंटी सारा पानी पिगई। फीर आंटी ने कहा राजा अब मत तड़पाओ और मेरी चुदाई चालू करो। फिर मेने आंटी के दोनों पैरो को फेल कर अपने लन्ड को आंटी की चूत के आगे लेके गया और धिरे धिरे और चूत की चुदाई चालू की। थोडी देर बाद मेने जोर जोर से चुत मे लड डालना चालु कया।आटी को बहुत मजा आरहा था और वो भी मेरा पुरा साथ दे रही थी।अब मेने उसे अपने उपर लीया और लड पर बीठा के उसल ने को कहा। तभी मेरा पुरा लड आटी की चुत मे जारहा था। थोडी देर हम दोनो ऐक साथ अपना पानी नीकाला। आटी मुज पर ही सो गई और कीस करने लगी। अभी तक दवाई का असर होने के कारन आटी गरम थी। थोडी देर बाद मेरा लड फीर चोदने के लीऐ तयार हो गया।फीर मेने आटी को घोडी बने को बोल और मे खडे हो कर आटी की गाड मारने लगा।आटी की गाड का होल बहुत चोटा था। ईस लीऐ उसे बहुत दद हो रहा था पर वो बडे मजे से चुदवा रही थी।थोडी देर मे मेरे लड ने पानी चोड दीया पर मे जानता था की आटी अभी भी पयासी हे। फीर मेने आटी की चुत मे तीन उगली डाल कर जोर जोर से अगर बहार करने लगा।तब आटी बहुत चीलाने लगी..आआआआआईईईईईईइइइइअअअअअ…….
और थोडी देरमे अपना पुरा पानी चुत मे से बहार नीकलने लगी।तब जाके आटी शात हुई।हम दोनो थोडी देर ऐक दुसरे की बाहोमे लेट गये।थोडी देर बाद मेने जाके लाईट की सवीस चालु कर दी और फीर नहाकर सो गये।
सुबह उठा तो देखा की आटी बेठ कर रो रही थी तो मेने आटी से पुचा कया हुवा तो बोली की रात को हम दोनो ने जो कीया वो सब गलत था और रोत ते हुऐ कहा की मेने मेरे पती को धोखा दीया।मेने आटी को बाहो मे भर कर कहा की तुम अपनी पयास बुजाअो तो ईस मे कोय बुरी बात नही और कहा तुमारे पति को ईस के बारे मे कुस पता नही चलेगा।थोडी देर नाटक कर ने के बाद वो मान और मेने दीन के उजाले मे आटी को चोदने लगा। ईस तरहा मेने दो साल तक आटी को अपनी गर्लफ्रेंड बना कर चोदता रहा।कीसी भी आटी या भाभी को मजे दार चुदाई चाहीये तो मुजे मेल करो। तो दोसतो केसी लगी मेरी कहानी कोमेट मे लीखना मत भुलना या मुजे मेल करना।मेरा मेल आडी-ravisureja353535@gmail.com

Tags

Hindi Sex Kahaniya & Sex Pictures © 2017