मेरे पति मुझे बहुत ज्यादा चोदते हैं (Mere Pati Mujhe Bahut Jyada Chodte Hain)

loading...

अभी दो दिन पहले मुझे यह मेल प्राप्त हुआ और उनके बार बार जोर देने पर मैं यह समस्या लिख रहा हूँ।
सुनिए-

मेरा नाम प्रतिभा है, उम्र 47 वर्ष, पति की उम्र 49 वर्ष है, शादी को 26 वर्ष हो चुके हैं, 3 बच्चे हैं और तीनों ही शादीशुदा हैं।

मैं अपने पति से पूरी तरह संतुष्ट हूँ, मेरे पति अभी भी रोज कम से कम तीन बार तो मुझे चोदते रहे हैं, जिसमें एक बार गांड तो अवश्य ही मारते हैं, वो भी इतनी बेरहमी से कि मेरा चलना तो दूर… ठीक से बैठ भी नहीं सकती हूँ।
मुझे भी गांड मरवाना बहुत पसंद है।

और मेरी चूत को चोदते तो इस कदर से हैं कि मेरे दोनों बेटे और बहुएँ मेरी लड़खड़ाती हुई चाल को देखकर मंद मंद और चोरी चोरी हंसने लगते हैं, मैं भी उनके सामने शर्म से लाल हो जाती हूँ।

पतिदेव अभी भी चूत चाटते हैं, गांड भी चाटते हैं…
इतना कि मेरे आनन्द की कोई सीमा नहीं रहती हैं, मैं भी उनका लण्ड आइसक्रीम और लॉलीपोप की तरह चूसती हूँ।

लेकिन पिछले कुछ समय से मैं रोज एक बार से अधिक सम्भोग नहीं कर पा रही हूँ, एक बार की चूत चुदाई में ही मेरी हालत ख़राब हो जाती है।
लेकिन मेरे पति को एक बार से संतुष्टि नहीं मिलती है। सोने पर भी पता नहीं कैसे मुझे नंगी कर चूत चाटकर जगा देते हैं और दोबारा गर्म कर फिर चोदने लगते हैं।

जब मैं सिर्फ एक बार सम्भोग करने को बोलती हूँ तो सेक्सवर्धक गोलियाँ खाकर चूत और गांड को और ज्यादा चोदने लगते हैं।
यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !

जब मैंने उनसे सेक्स गोली खाकर सम्भोग में कोई साइड इफ़ेक्ट होने का डर भी जाहिर किया तो वे यही कहते हैं कि जब तक मैं सिर्फ़ एक बार सेक्स करने को कहती रहूँगी, वे मुझे ऐसे ही गोली खाकर चोदते रहेंगे या फिर किसी और के लड़की के साथ सम्भोग करने लगेंगे।

मैं ऐसा बिल्कुल नहीं चाहती हूँ।

पतिदेव ने बार बार डॉक्टर से भी चर्चा की बात कर रहे हैं, लेकिन मैं डर की वजह से मना कर देती हूँ।

आप ही बताइये क्या करूँ मैं!
मैं अपने पति से बहुत प्यार करती हूँ, मेरी भी इच्छा होती है बार बार सेक्स की… लेकिन मेरा शरीर मेरा साथ नहीं देता।
बताइये, मैं क्या करूँ?

तो मित्रो, यह थी प्रतिभा जी की समस्या!
आप अपने सुझाव दें, अच्छे कमेंट दें!
pk961715@gmail.com


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
loading...

और कहानिया

loading...
One Comment
  1. December 17, 2016 |