मोनिका की गांड मारी

loading...

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम आदित्य हैं और मैं पिछले काफी महीनो से सकसेक्स की कहानियां पढता हूँ. यह स्टोरी मै मैं आप को बताऊंगा की कैसे मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की गांड मारी थी. पहले मैं आप को आपके बारे में बता दूँ. मैं जम्मू में रहता हूँ, और अभी फायनल इयर में स्टडी कर रहा हूँ. अभीतक मैंने ३ लडकियों के साथ सेक्स किया हैं जिसमे से एक एक कहानी मैं आप को बताने जा रहा हूँ.

ये बात है लास्ट अप्रेल की मेरे घर वाले कही बहार गए हुए थे. मोनिका (मेरी गर्लफ्रेंड) को मैं अपने घर ले के आया था. वो दिखने में स्मार्ट हैं लेकिन थोड़ी बल्की यानी की मोटी हैं. उसके बूब्स बहुत बड़े हैं साइज़ में कुछ ३६ के होंगे. मैं हमेशा उनके साथ खेलता रहता हूँ. वो जब मेरे घर पे आई तो हमने सबसे पहले एक लार्ज ड्रिंक हम दोनों ने पिया. फिर मैं उसे ले के अपने कमरे में गया. कमरे में घुसते ही मैंने उसे किस करना चालू कर दिया.

हम दोनों की किस एकदम वाइल्ड हो गई थी. ऐसा लग रहा था हम एक दुसरे को खा ही जायेंगे. हम दोनों की स्मूच २०-२५ मिनट तक चलती रही. उसके बाद मैंने उसकी कमीज़ उतार दी. उसने सफ़ेद ब्रा पहन रखी थी. उसके बूब्स उसमे से बहार आने के लिए बेताब हो रहे थे. मैंने उसको फिर से वाइल्ड फ्रेंच किस करना शरु कर दिया. और साथ ही में मैं उसके मम्मे भी दबा रहा था. वो अब सिसकियाँ लेने लगी थी और साथ में कह रही थी आह्ह्ह ह्ह्हह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्हह्ह ओह्ह्ह्हह्ह कम ओं निचोड़ दो इनको. उसकी यह आवाज मुझे पागल कर रही थी.

फिर मैं उसके मम्मो को ब्रा के ऊपर से सक करने लगा. उसके निपल्स मुझे उसके ब्रा के ऊपर से ही फील हो रहे थे. फिर मैंने उसको किस करते हुए निचे की ओर जाने लगा और वो सिसकियाँ लेती रही, ओह्ह्ह येह्ह्ह्हह्ह्ह्ह आह्ह्हह्ह्ह्ह. फिर मैंने उसकी नाभि को चूसने लगा. वो तो पागलों की तरह मेरे सर को अपनी नाभि में दबा रही थी और कह रही थी की खा जाओ इसे और चुसो इसे. मैंने उसकी नाभि को चाटते हुए उसकी चूत की तरफ बढ़ गया. उसकी चूत बहुत गरम हो चुकी थी.

अब वो अपनी कमर आगे पीछे करने लगी थी. मैं और निचे गया और उसकी सलवार के ऊपर से ही उसकी चूत को काटने लगा और वो अब और जोर से सिसकियाँ ले रही थी…आआअह्ह ऊऊऊऊफफफफफ ख़ा जाओ मेरीईईइ चूत को, फाड़ दो इसे, खा जाऊऊऊऊ….!

अब मैंने उसकी सलवार को खोल दिया और उसको धीरे धीरे उतारने लगा और उसकी जांघो पे किस करता रहा और सक करते हुए उसकी सलवार को उतार दी. और अब वो व्हाईट ब्रा और ब्ल्यू पेंटी में मेरे सामने थी तो मैंने अपने भी कपडे उतार दिए और सिर्फ अंडरवेर में आ गया.  अब उसने मुझे अपने निचे लिटा दिया और मेरे ऊपर आके मुझे किस करने लगी. मेरा लंड खड़ा हो गया था और उसने अंडरवेर में चुभन पैदा कर दी थी. मैंने एक ही झटके में मेरी चड्डी उतार दी. मोनिका का हाथ सीधे ही मेरे लंड पर आ गया और वो उसे हिलाने लगी.

मैंने उसे कहा लंड चूसने के लिए. वो मेरे पेट के ऊपर से ही जबान घिसते हुए लंड की और बढ़ी. और जब लंड के आगे आई तो मुह को खोल के मेरे काले नाग को उसने अपने मुहं में भर लिया. बाप रे मोनिका को तो लंड चूसने का बड़ा ही मजा आता हैं. और वो ऐसे लंड चुस्ती हैं की बस दिमाग ही प्रफुल्लित हो उठता हैं. उसने मेरे टट्टे हाथ में पकडे और लंड को जोर जोर से चाटने लगी. मेरा लंड चरम सीमा पर था और मुझे लगा की यह साला कही उगल ना दे.

मैंने मोनिका का माथा ना पकड़ा होता तो शायद वो मेरे खाली करवा देती. मैंने जब उसके मुहं से लंड निकाला तो वो पूरा लाल हो चूका था. मोनिका भी मेरे लंड को ही देख रही थी. मैंने उसकी टाँगे खोली और उसकी पेंटी को निचे से हटा दिया. मेरा लंड मैंने चूत पर रख दिया और एक ही झटके में लंड को अन्दर घुसेड दिया. उसकी चूत मैं पहली बार नहीं मार रहा था. मोनिका ने मुझे गले से लगा लिया और मैं उसके गले में किस करने लगा. वो मुझे अपने अन्दर दबा रही थी जैसे और मैं उसकी चूत में अपने लंड को गोते लगवा रहा था. मोनिका भी मुझे कंधे के ऊपर किस कर रही थी और उसके नाख़ून मेरी कमर को खरोंच रही थी. मोनिका अपनी गांड को उठा उठा के मेरा लोडा चूत में ले रही थी.

२ मिनिट और उसकी चूत मारने के बाद मैंने मोनिका से गांड सम्भोग की बात की. तो उसने कहा नहीं दुखता हैं पीछे. मैंने कहा, करने दो न यार.

मोनिका ने मुश्किल से हामी भरी. मैंने अपना लंड चूत से निकाला और धीरे से उसकी गांड पर रख दिया. उसकी गांड बड़ी गर्म थी. उसने अपने हाथ में थोडा थूंक लिया और गांड पर रगडा. फिर उसने खुद अपने हाथ से लंड को गांड पर सही एंगल पर रखा. मैंने एक झटका दिया लेकिन गांड में नहीं घुसा मेरा लंड. मोनिका दर्द से कराह उठी. उसने फिर कहा की दुखता हैं यार.

मैंने कहा, अब धीरे से करूँगा. उसने फिर थोडा थूंक लिया और गांड को चिकना किया. सेटिंग करते ही मैंने उसके कंधे को पकड़ा. हल्का पेलने से मेरा सुपाड़ा अन्दर घुसा और मोनिका चीख पड़ी. अभी तो साला सिर्फ टोपा ही अन्दर गया था और उसकी यह हालत थी, कुछ देर पहले तो रंडी के जैसे उछल रही थी. मैंने कुछ देर तक लंड को ऐसे ही रहने दिया और फिर एक हल्का झटका और दिया. लंड का ३०% जितना भाग गांड में घुसा था और मुझे लंड की सभी तरफ गर्मी महसूस हुई. मैंने उसके कंधो को पकड़ा और बिना रुके हुए एक झटके में आधे से ज्यादा लंड को अन्दर कर दिया. मोनिका ने अह्ह्ह्हह कर दिया. मैंने अब आधे लंड से ही उसकी गांड को ठोकना चालू कर दिया. मैंने उसे हौले हौले से गांड के अन्दर बहार होते हुए लोडे से थोक रहा था. और उसकी एस ठोकते हुए मैंने अपनी एक ऊँगली उसके मुहं में दे दी. वो जैसे लंड चूस रही थी कुछ देर पहले ऐसे ही ऊँगली को सक करने लगी. मोनिका की गांड में अब मैंने थोडा झटका दिया तो पूरा लंड बिना रुकावट के अन्दर हो गया.

और अब उसे भी मजा आ रहा था. वो अपनी गांड को आगे पीछे कर के मरवा रही थी. मेरा लंड कुछ नया महसूस कर रहा था अभी इस टाईट छेद में. वो अपने कुल्हे उठा उठा के मरवा रही थी गांड को और मैं पुरे झटके लगा लगा के उसे पेलता जा रहा था.

गांड की ठुकाई कुछ ५ मिनिट तक चलती रही. मुझे और मोनिका दोनों को बहुत मजा आ रहा था. मैं चरमबिंदु पर था और किसी भी वक्त मेरे लंड से फव्वारा छुट सकता था. मैंने अब अपनी गति बढ़ा दी थी. मोनिका ने मुझे पूछा की क्या निकलनेवाला हैं? मैंने हां कहा तो उसने कहा मेरी चूत में ऊँगली करो ना प्लीज़. वो भी मेरे साथ झड़ना चाहती थी. मैंने हाथ आगे किया और उसकी चूत में दो ऊँगली डाल दी. अब मैं उसे ठोकता हुआ उसकी गांड को पेल रहा था. दुसरे ही मिनिट मैंने उसकी गांड को भर दिया. वीर्य की गाढ़ी मलाई से उसकी गांड भर गई थी. जब मैंने गांड से लंड निकाला तो उसकी पाद भी छुट पड़ी. वो हंस पड़ी और बोली, बहुत दुखाया तुमने आदित्य. मैंने उसकी गांड पर चमाट लगाते हुए कहा, लेकिन मजे भी तो खूब लिए तुमने. वो भी अपने आप को हंसने से रोक नहीं पाई!

दोस्तों यह थी मेरी और मेरी गर्लफ्रेंड की एनाल सेक्स की कहानी. आप लोगो ने यदि कहानी पढ़ के लंड और चूत में गर्मी महसूस की हैं तो प्लीज़ मुझे कमेन्ट कर के बताये. कमेंट्स के बाद मैं अपनी और अपने मोम की एक कहानी लिखूंगा जिसमे मोम को मैंने मोमबत्ती से चूत खुजाते हुए पकड़ा था.

 


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
loading...

और कहानिया

loading...
One Comment
  1. skel
    August 29, 2016 |