सेक्सी भाभी की गरम चूत

loading...

मेरा नाम रोकी हे और में इंजिनियर हु. में गुडगाव में काम करता हु और दिल्ली में रहता हु. हमारे पड़ोस में एक भैया रहते हे उनके साथ उनकी पत्नी और एक बेटा भी था. उनकी पत्नी सपना थी और वह एकदम माल हे, उसका फिगर ३४-३०-३४ हे. उनको तो देखते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता हे. वह हमेशा साडी ही पहनती हे. यह घटना कुछ १ साल पुरानी हे.

तब मैने अपनी इंजीनियरिंग कम्पलीट की थी और तब छुट्टीया चल रही थी. में उनके घर पर अक्सर जाया करता था. एक दिन में ऐसे ही उनके घर गया तो मुझे भाभी ने कहा की मेरी तबियत खराब हे तो आज मेरे बेटे को तू पढ़ा देना. तो मैने भी कहा की ठीक हे भाभी में पढ़ा देता हु.

फिर जेसे ही में उसको पढ़ाने के लिए बेठा तो थोड़ी देर में वहा पे भाभी भी आ गयी और वह बेड पर लेट गई. वह मेरे साइड में आके लेट गई थी.मेरा हाथ उनके बेटे को पढ़ते पढ़ाते उनके सर पर लग गया तो वह बहोत गर्म थी. मैने कहा की भाभी आपको तो बुखार आया हुआ हे तो उसने ह्म्म्म कह कर बात टाल दी.

फिर मैने जान बुज कर अपना हाथ उनकी कमर पर रख दिया और उनके लड़के समीर को पढ़ाने लगा.

फिर उनकी गरम कमर मुझे भी गरम करा खी थी. मेरा लंड अब खड़ा होने लगा था और फीर मैने हाथ उनके नवल पर रख दिया, और उसने कुछ भी नही कहा. मुझे लगा की वह सो गयी हे.

फिर थोड़ी देर के बाद समीर खेलने के लिए बहार चला गया और फिर में और भाभी बेड पर अकेले थे तो में भी लेट गया उनके बगल में और अपने हाथ से उन्हें छूने लगा.

फिर मैने जेसे ही उनके ब्लाउज पर हाथ रखा तो देखा की उनके निपल टाईट हो चुके थे. और उसने ब्रा भी नही पहनी थी. मुझे पता चल गया की आज भाभी चुदना चाहती हे. फिर मैने ऊपर का एक बटन खोल दिया.

और जेसे ही मैने बटन खोला भाभी मेरी तरफ मुड गयी और उसने एक नोटी स्माइल दी. फिर में भी समज गया की आज तो भाभी को चोदना ही हे.

फिर मैने उनके सरे बटन खोल दिए और उनके बूब्स मेरे सामने आ गये. उनके बूब्स क्या बताऊ कितने सेक्सी थे? जेसे मानो आम हो. उन्हें देखते ही लंड एकदम खड़ा हो गया और वह जींस में से बहार आने को तडपने लगा.

फिर भाभी मेरे करीब आ गयी और मुजे बोली आज मेरी गर्म गर्म चूत मार दे. यह सुनकर मेरी तो ख़ुशी का कुछ भी ठिकाना नहीं रहा. और फिर में सीधा उनके बूब्स को मुह में लेकर चूसने लगा. मुझे बहोत मजा आ रहा था. और वह धीरे धीरे मोंन कर रही थी अह्हह अह्ह्ह अमम्म अह्ह्ह उह्ह्ह ओह्ह्ह अह्ह्ह माम्म्म यम्म्म्म उम्म्म्म आह्ह आराम से करो. में तेरी ही हु, आराम से काटो बूब्स को अहह्ह्ह अमम्म्म.

यह सुनकर में और पागल हो गया और उनके बूब्स को कस कस के दबाने लगा. उसने मेरी जींस खोल नि सुरु कर दी और वह मेरे लंड पर हाथ घुमाने लगी और वह उसे बहोत प्यार से दबाने लगी. में तो मानो एकदम पागल हो गया था.

फिर उन्होंने मेरा लंड बहार निकाल लिया. और उसे देख कर चोंक गयी की इतना मोटा और बड़ा लंड? और वह बोली की ऐसा लंड तो तेरे भैया का भी नही हे. उनका तो बहोत ही छोटा सा हे. और फिर वह लंड को जोर जोरसे दबाने लगी और में भी पागल हो गया था और मजा आ रहा था. फिर मैने उनका ब्लाउज निकाल दिया और उनके नंगे चुचे मेरे सामने आ गये. मैने अपना लंड उनके निपल पर लगाया और उनके पिंक निपल देख कर मेरा लंड भी शरमा गया और निपल गिले हो गये. मैने उनके बूब्स पर अपने लंड से मुठ मारी और मेरे स्पर्म को उनके बूब्स पर मसाज किया.

यह सब करने की वजह से भाभी पागल हो रही थी और वह बोली की अब मत तडपा चोद दे मुझे. बना ले मुझे अपनी रंडी आज मेरी आग को बजा दे, तेरे भैया आब मुझे नही चोदते हे. मुझे महीने में सिर्फ एक बार ही चोदते हे.

तो फिर मैने उसे कहा की मेरा नाम जोर जोर से चिल्लाओ और फिर वह मेरे लंड को मुह में लेकर चूसने लगी वह इतनी मस्त चूस रही थी की मजा आ गया.. मैने उनके बाल पकडे और मेरा पूरा लंड अंदर घुसा दिया. और उसने मेरे लंड को अपने दांत से काट लिया.

फिर मेरा जड़ने वाला था तो मैने उसे बिना बताये ही उनके मुह में जड़ दिया, और वह मेरा सारा माल पि गयी.

फिर उसने मेरा पूरा लंड अपने लिप्स से साफ कर दिया और एक एक बूंद पि गयी.

फिर मैने उनको खड़ा किया और उन्हें बाथरूम में ले गया और वहा पर उन्हें निचे बिठा कर उनके ऊपर मैने पिशाब कर दिया. उनके बूब्स पर पिशाब कर दिया, और उनके बूब्स एकदम गिले हो गये.

फिर मैने उन्हें उठाया और अपनी बाहों में भर के बेड रम में ले गया. वह मैने उसे बेड पर लिटा दिया वह सिर्फ अपनी पेटीकोट में थी और उसके बूब्स सेक्सी थे.

फिर में धीरे से उनका पेटीकोट निचे से उठाने लगा और उनकी टांगो को किस करने लगा, क्या मस्त सेक्सी टाँगे थी उनकी बिल्कुल चिकनी मजा आ गया उनकी टांगो को चूस कर. जेसे ही में ऊपर तक पहुंचा उनकी पेंटी एकदम गीली हो चुकी थी.

वह अब तक दो बार जड़ चुकी थी. और उसने बिना चूत में लंड लिए ही अपना पानी दो बार छोड़ दिया था. और मेंने उनकी पेंटी नही उतारी और उसको ऊपर से चूसने लगा. क्या मस्त टेस्ट था मुझे तो बहोत ही मजा आ गया, उसका टेस्ट एकदम नमकीन और गरम था. और वह टेस्ट करके मेरे बदन में गरमी और बढ़ गयी.

फिर मेनें उनकी पेंटी को अपने दांत में फसाई और उसे उतार दी. क्या चूत थी, एकदम गीली और सेक्सी. वह एकदम वर्जिन लग रही थी जेसे की बहोत समय से चुदी ना हो. और एक भी बाल नहीं था एकदम क्लीन शेव चूत थी. और फिर मैने सीधा 69 पोज में आकर मेरा मुह उनकी चूत पर रख दिया और उसे पिने लगा. जैसे ही मैने अपनी जीभ अंदर डाली एकदम गरम गरम अहसास हुआ और उस ततरफ भाभी ने मेरा लंड अपने मुह में ले लिया था और चूस रही थी.

में भी अपने जीभ को उनकी चूत में अंदर तक ले गया और जोर जोर से अंदर बहार करके उसको तीसरी बार जड दिया.

बाकि की सेक्स स्टोरी में आगले भाग में बताऊंगा, की केसे कर के मैने उन्हें घर के हर जगह पर चोदा.


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
loading...

और कहानिया

loading...