हसीना की चूत में पसीना

loading...

मेरा नाम आर्यन है, मैं मोरादाबाद में रहता हूँ। मेरी कहानी एक सच्ची कहानी है। मेरी कहानी सुनकर लड़कों को मुठ ज़रूर मारना पड़ेगा और लड़कियों को अपनी चूत में ऊँगली करे बगैर चैन नहीं मिल पायेगा।

मैं इंजीनियरिंग का छात्र हूँ और मैं कमरा लेकर रह रहा हूँ। मेरे साथ मेरा दोस्त भी रहता है, हम दोनों एक साथ पढ़ते हैं। हम दोनों की गर्लफ्रेंड भी हैं, मेरी गर्लफ्रेंड का नाम श्वेता है और मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड का नाम हनी है।

एक दिन हम हनी के घर गए थे। वहाँ उसकी मामी की लड़की निकली वो अपनी जवानी की देहलीज़ को पार कर रही थी, उसकी उम्र करीब 18 वर्ष की होगी। उसकी चूचियों को देखकर तो हम दोनों के होश उड़ गए और हम दोनों का लंड सांप के फन की तरह फनफना के खड़ा हो गया। उसी दिन जब हम लौट रहे थे तो हमने उसे चोदने की योजना बनाई और योजना के मुताबिक जब उसके घर में कोई नहीं था, तब हम गए और घण्टी बजाई, वो बाहर निकली।

हमने अनजान बनकर पूछा- हनी है ?

तो उसने कहा- नहीं है !

हमने कहा- अन्दर आकर थोड़ा इन्तज़ार कर लेते हैं।

तो उसने कहा- ठीक है, आओ !

जब हम अन्दर गए तो उसने कहा- मैं चाय लेकर आती हूँ !

जब वो चाय लेने जा रही थी तो उसके चूतड़ों की चाल को देखकर मेरे दोस्त का लंड खड़ा हो गया और वो सोफे पड़ी उसकी ब्रा को लेकर उसके कमरे में मुठ मारने चला गया जहाँ पहले से ब्लू फिल्म की सीडी लगी हुई थी। तो वो उसको देखने में मस्त हो गया और मैं आगे जाकर बैठ गया। वो आई तो मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसका एक चुम्बन ले लिया तो वो हंसकर बोली- तुम बहुत शैतान हो !मैं समझ गया कि रास्ता साफ़ है। तो मैंने कहा- यार, तुम तो बड़ी सेक्सी हो ! आज से पहले कभी चुदवाया है?

तो उसने कहा- नहीं, कभी तुम्हारे जैसा चोदू मिला ही नहीं !

मैंने उसकी एक चूची को कसकर पकड़ लिया, उसकी सिसकी निकल गई।

मैंने कहा- आज तुमको तो चोदकर रहूँगा !

उसने कहा- कोई आ जायेगा !

मैंने कहा- तब की तब देखेंगे !

और मैंने उसकी टी-शर्ट उतार दी, उसकी चूचियों को देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया।

उसने कहा- मैं तुम्हारे लंड के दर्शन करना चाहती हूँ !

मैंने अपने कपड़े उतार दिए। मेरे लंड को देखकर वो बोली- मेरी चूत में पसीना आ रहा है ! अब मुझे चोदो !

तो मैंने कहा- इतनी भी क्या जल्दी है, अभी तो सिर्फ पसीना ही निकला है ! बाद में तो रसमलाई भी निकलेगी, जिसको खाए बगैर मै तुमको नहीं चोदूंगा।

इतना कहकर मैं उसकी दोनों चूचियों को पकड़कर कस के मसलने लगा।

तब उसके मुँह से सिसकियाँ निकलने लगी- अह्ह्ह्हह्ह्हह्ह्ह्झ अओउच प्लीस बस करो ! मै मर जाउंगी !

फिर मैं उसकी जींस के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा। फिर वो अपने आप ही अपनी जींस उतारने लगी। मै उसकी चिकनी और कुंवारी चूत को देखकर बोला- क्या मस्त चूत है ! देख मैं कैसे इसे रौंदता हूँ!

उसने कहा- प्लीज़ जल्दी डालो ! मुझसे रहा नहीं जा रहा है !

मैंने कहा- पहले मेरे लंड को मुँह में लेकर इसे मजा दो !

उसने मेरा लंड अपने मुँह में लिया तो कहा- यह तो बहुत गरम है !

और वो अन्दर-बाहर करने लगी।

मैंने कहा- यह अब तैयार है।फिर मैंने उसकी टांगों को उठा कर उसकी चूत पर ढेर सारा थूक डाला और अपना लंड उसकी चूत पर रखकर जोर से धक्का मारा तो उसके मुँह से जोर से आवाज निकली- मर ग़ाय़ीईईई ईई ईईई अह्ह्ह्हह्ह्ह्हह श्र्श्रीईईईईईईई बस करो !

मैंने कहा- अभी तो बस आधा ही गया है।

उसने कहा- रहने दो, मेरी चूत फटी जा रही है और बहुत दर्द हो रहा है।

लेकिन मैंने उसकी टांगों को कस के पकड़कर फिर से एक जोर का धक्का लगाया और पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में घुसेड़ दिया।

वो फिर से चिल्लाई- आआआआ ईईईईई ! आर्यन तुम तो बहुत बेदर्द हो।

मैंने कहा- जान, इसी दर्द के बाद ही तो स्वर्ग का मजा आएगा।

उसने अपना सर उठा कर नीचे देखा तो पूरी चादर खून से लथपथ थी, वो डरकर बोली- यह क्या है ?

मैंने कहा- यह तो मजा आने की निशानी है।

और फिर मैंने उसकी चूचियों को चूसना चालू कर दिया जिससे वो अपने दर्द को भूलकर मजा लेकर मस्ती के साथ आआह्ह आआआआआह्ह्ह्हह्ह करने लगी और बोली- मेरी इस चूत को चोदो ! यह तो चुदवाने के लिए फ़ैल चुकी है।

फिर मैंने जोर-जोर से धक्के मारना चालू कर दिया, उसे मजा आने लगा और मुझे भी मजा आने लगा। थोड़ी देर बाद वो मुझसे कस के चिपक गई और झड़ गई। फिर मैं भी दो चार धक्के मारने के बाद झड़ने लगा। मेरा गरम वीर्य उसकी चूत में प्रवेश करने लगा।

उसने कहा- बड़ा अच्छा लगा !

फिर मैंने उसी दिन बहुत सारे आसनों से उसे चोदा। फिर हमें जब भी मौका मिलता है तो हम चुदाई करते हैं।

आपको मेरी कहानी कैसी लगी प्लीज़ मुझे बताये।


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
loading...

और कहानिया

loading...