जूली की जगह चुद गई चाची (Hindi Sex Stories Julie Kee Jagah Chud Gayi Chachi)

loading...

मैं जूली की रसदार चूचियों को चूसना चाहता था! पर मेरी किस्मत में एक नहीं दो चूतें थी! जूली की साथ उसकी चाची को भी Hindi Sex Stories की घटना मुझसे में चुद गई..

Hindi Sex Stories की इस कड़ी में जूली के मुलाकात

मैं राज अपनी कहानी लिख रहा हूँ। मैं बिलासपूर का रहने वाला हूँ। जब मैं बीसीए का फर्स्ट एअर का स्टूडेंट हूँ। मेरे मकान में जूली नाम की लड़की रहने आई थी।

उसका फिगर कम से कम 34.36.34 था, उसके मम्मे इतने बड़े थे! कि देखने वालों के मूह में पानी आ जाए। मेरा भी कुछ हाल ऐसा ही था। वो अभी 11थ क्लास में थी।

loading...

मैं उसके मम्मों को हमेशा ताकता रहता था! कि कभी पीने का मौका मिल जाए! भगवान् ने भी मेरी सुन ली। एक दिन! उसने मुझे पढ़ाने को कहा, मैं तो कब से तैयार था भी! तुरन्त हाँ बोल दिया।

वो भी पढ़ने आने लगी। रोज जूली के मम्मे देख कर रह जाता! अचानक! एक दिन जूली ने कहा- तुम रोज रोज मेरी तरफ क्या देखते हो?

मैंने उससे कहा- कुछ भी तो नहीं।

वो बोली- जानकर भी अनजान बनते हो! कह क्यों नहीं देते! कि तुमको क्या चाहिए।

loading...

मैंने भी कह दिया- तुम जानकर भी अंजान क्यों बनती हो!

इस पर वो कहने लगी- मैं तुमको बेहद प्यार करती हूँ!

मैंने भी उससे कहा -मैंने भी तुमसे बहुत प्यार करता हूँ। यह सुनते ही वो मुझे अपनी बाँहों में लेकर चूमने लगी और मैंने भी उसको खूब चूमा!

जूली ने की मुझे चुदाई भरी बातें

उस दिन के बाद हमारी बातें होना चालू हो गई। हम भी पहले! औरों के तरह फ़ोन पर सेक्स की बातें करते!

एक दिन मैं जूली को बोला- क्या? वो मेरे नाल चुदाई का खेल खेलेगी! वो पहले तो मना करने लगी! बाद मैं मान गई!

वो मुझसे बोली- कल मेरा पूरा परिवार बाहर जा रहा है! तो इवनिंग में कॉल कर दूँगी! तब तुम पहुँच जाना!

मैं भी जूली के फ़ोन का इंतजार करने लगा! फ़ोन आते ही! मैं जूली के घर पहुँच गया। जूली ने काली कलर की फ्रोक पहन रखी थी, देख कर लगा! कि अभी चोद दूँ!

हालांकि! मेरे पास टाइम ही टाइम था तो रुक गया! वो मुझसे बोली- मैं नहाकर आती हूँ। मैं अन्दर गया तो देखा! कि जूली की मामी भी है।

मामी घर पर सबका हाल पूछने लगीं और मुझसे कहा- तुम टीवी देखो, मैं नहा कर अभी आई।

मैंने कहा- जी, ठीक है!

कुछ देर बाद! बाथरूम से आवाज आई- राज, मैं अपना तौलिया बाहर भूल गई हूँ! प्लीज़ जरा पकड़ाना..!

मैंने पूछा- जूली है क्या? पर जूली की चाची थी!

मैंने जैसे! तौलिया पकड़ाने के लिए हाथ आगे किया, तो बाथरूम का दरवाजा खुल गया! चाची मेरे सामने पूरी नंगी खड़ी थीं!

उनके गोल-गोल मम्मों पर ही! मेरी नज़रें गड़ कर रह गईं! और मेरा लौड़ा भी खड़ा हो गया। चाची ने भी यह सब देख कर! जल्दी से दरवाजा बन्द कर लिया।

चाची जब नहा कर! बाहर आईं, तो मैं उनसे नजरें नहीं मिला पा रहा था।

चाची ने कहा- राज क्या हूआ?

मैंने कहा- कुछ नहीं चाची जी।

चाची ने कहा- कभी उस हालत में! लड़की को नहीं देखा क्या?

मैंने कहा- नहीं चाची जी..!


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
loading...

और कहानिया

loading...
One Comment
  1. rama shankar
    October 9, 2016 |