मेरी बीवी की गांड मेरे बिजनेस पार्टनर ने चोदी

मेरा गार्मेन्ट्स का बिजनेस है और मेरी बीवी ऋतु (बदला हुआ नाम) 25 साल की है. वो एक मॉडल है. ऋतु बहुत ही खूबसूरत है. उसकी हाइट 5.5 फीट है और उसका फीगर 32-26-34 है. उसका रंग भी बिल्कुल गोरा है और उसकी चूचियां गोल और बड़ी-बड़ी हैं.

जो भी मर्द उसको देखता है तो सबसे पहले नज़र उसकी चूचियों पर ही जाती है. मैं जब भी ऋतु के साथ मॉल में जाता हूँ या फिर मूवी देखने जाता हूं तो लोगों को देखता हूं कि वो कैसे उसकी चूचियों को घूरते हैं और फिर उसकी गोल और उठी हुई गांड को वासना भरी निगाहों से देखते हैं.

मेरी बीवी को ज्यादातर टाइट कपड़े पहनने का ही शौक है इसलिए उसका फिगर उसके कपड़ों में बिल्कुल साफ पता चल जाता है. मेक-अप करने के बाद तो वो किसी हिरोइन से कम नहीं लगती है. अगर मैं किसी फिल्मी हिरोइन से उसकी तुलना करूं तो वो बिल्कुल श्रद्धा कपूर के जैसी दिखती है. काफी लोगों ने कई बार मुझे ऐसा बोला भी है कि आपकी बीवी श्रद्धा कपूर जैसी दिखती है. जब लोग उसकी खूबसूरती की तारीफ करते हैं तो मुझे बहुत खुशी होती है.

एक दिन मैं काम से जल्दी वापस आ गया था घर पर. उस वक्त मेरी बीवी ऋतु जिम में गई हुई थी. मैं आपको बता दूं कि वो अपनी सेहत और फीगर का बहुत ध्यान रखती है और अपने आप को फिट रखती है. उसकी बॉडी बिल्कुल शेप में है. तो उस दिन हुआ यूं कि मैंने घर आने के बाद ऋतु को फोन किया. उस दिन मेरा प्लान मूवी देखने का था.

कई दिनों से हम मूवी देखने नहीं गये थे इसलिए ऋतु भी जल्दी ही मान गयी. जैसे ही वो घर आयी तो मैंने तुरंत उसको चलने के लिए कहा क्योंकि मूवी का टाइम होने ही वाला था. वो कपड़े चेंज करना चाहती थी लेकिन जल्दी के कारण उसने ऊपर का टॉप ही चेंज किया और नीचे जिम वाली ट्रैक पैंट ही पहने रही.

हम मॉल में पहुंच गये जहां पर अंदर ही सिनेमा भी था.

जब हम मूवी हॉल की तरफ जा रहे थे मेरी बीवी की ट्रैक पैंट में उसकी गांड एकदम बाहर निकली हुई दिख रही थी. आगे से उसकी चूत की शेप भी दिखाई दे रही थी. मॉल की लाइट में वो और अच्छी तरह से दिख रही थी.

मैंने देखा कि कई बूढ़े आदमी भी सामने से आते हुए उसकी चूत की लाइन को ताड़ रहे थे. उनकी आंखों में ऐसी हवस भरी थी कि लग रहा था ऋतु को पकड़ कर अभी चोद देंगे.

उसी वक्त सामने से मुझे मेरा एक बिजनेस पार्टनर आता हुआ दिख गया. वो भी अपनी फैमिली के साथ मॉल में आया हुआ था. हम दोनों ने एक-दूसरे को देख कर स्माइल किया और फिर मैंने ऋतु को उसकी फैमिली से मिलवाया.

उस दिन मेरी बीवी पहली बार मेरे किसी बिजनेस पार्टनर से मिल रही थी. मेरे बिजनेस पार्टनर का नाम अजय है और उसकी उम्र 45 साल है. वो थोड़ा सा ठरकी किस्म का इन्सान है. जब मैं उसकी फैमिली से बात कर रहा था तब उसकी नज़र सिर्फ ऋतु के बदन पर ही थी.

वो अपनी आंखों से ही ऋतु के बदन का एक्स-रे करने में लगा हुआ था. इधर मेरी बीवी की ड्रेस भी ऐसी चिपकी हुई थी कि उसकी बॉडी से कि अजय को मेरी बीवी के बदन का माप लेने में कोई दिक्कत नहीं हो रही थी.

अजय को ऋतु का फीगर साफ-साफ दिखाई दे रहा था और वो जैसे उसके बदन को नापते हुए भूखे कुत्ते की तरह लार टपका रहा था. ऋतु ने टॉप को भी थोड़ा ऊपर पहन रखा था जिससे उसकी नाभि दिख रही थी. अजय उसके गोरे पेट और उसकी नाभि को घूर रहा था जैसे कि उसको अभी चाट लेगा.

फिर अगले दिन उसने मुझे कॉल करके बुलाया और एक डील के बारे में बात करने लगा.
मुझे उसकी डील अच्छी लगी इसलिए मैंने हां कर दी.
फिर वो बोला कि कल वो मेरे घर आयेगा और वहां पर आकर बाकी की सारी डिटेल बतायेगा.

फिर उसके अगले दिन शाम को वो मेरे घर पर आ गया. उस वक्त शाम के 7 बजे का समय हो रहा था. ऋतु ने उस दिन डेनिम की पैंट और टी-शर्ट पहनी हुई थी. हम तीनों साथ में बैठ कर बातें करने लगे और साथ ही पीने का मजा भी लेने लगे.

अजय मेरी बीवी ऋतु से उम्र में लगभग 20 साल बड़ा था. इसलिए ऋतु उससे अंकल की तरह पेश आ रही थी. चूंकि अजय की उम्र काफी ज्यादा थी इसलिए ऋतु को अजय के साथ बैठने में कोई परेशानी नहीं हो रही थी. वो अजय की बगल में उसके पास ही बैठी थी.

बात करते हुए बीच-बीच में अजय ऋतु की जांघ पर हाथ फेर देता था जिसको लेकर ऋतु बिल्कुल भी परेशान नहीं दिखाई दे रही थी. अजय को भी ऋतु के बर्ताव से शायद ये अंदाजा हो गया था कि मेरी बीवी को हाइ-फाई लाइफ पसंद है. वह इन सब बातों पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रही थी.

पीते हुए मुझे तो नशा सा होने लगा था लेकिन ऋतु और अजय अभी बिल्कुल होश में रहकर बात कर रहे थे. रात के दस बजे मुझे नींद सी आने लगी. जब मुझसे नींद बर्दाश्त नहीं हुई तो मैं वहीं सोफे पर ही आंख बंद करके लेट गया.

लेकिन मुझे इतना होश तो था कि मैं अपने आस-पास हो रही आवाजों को सुन सकूं. मैं बीच-बीच में हल्की-हल्की आंख खोलने की कोशिश भी कर रहा था लेकिन मुझे पूरी तरह से होश नहीं था. बस ये दिखाई दे रहा था कि सामने ऋतु और अजय दोनों ही अपनी बातों में मग्न थे.

फिर मैंने देखा कि अजय अब ऋतु की जांघ पर हाथ फेर रहा था. ऋतु ने कहा- सर, आप ये क्या कर रहे हो?
अजय बोला- ऋतु, जब से मैंने तुम्हें देखा है मैं तुम्हारी खूबसूरती का दीवाना हो गया हूं. तुम जो भी बोलोगी मैं वो करने के लिए तैयार हूं. बस तुम एक बार मेरे लिए हां कर दो.

ऋतु ने कहा- सर, अगर मेरे पति आकाश को इस बारे में पता लग गया तो बात बिगड़ जायेगी. मैं ऐसा नहीं कर सकती.
अजय ने कहा- आकाश को कुछ पता नहीं चलेगा. मैं उसको कुछ भी मालूम नहीं पड़ने दूंगा. यह बात बस तुम्हारे और मेरे बीच में रहेगी. तुम बिल्कुल भी टेंशन मत लो ऋतु. बस एक बार हां कर दो …

फिर अजय ने ऋतु को किस करना शुरू कर दिया. ऋतु ने उसको हटाने की कोशिश की लेकिन वो उसको चूमता रहा. ऋतु कहती रही कि आकाश जाग जायेगा लेकिन अजय ने उसकी बात नहीं सुनी. मैं आधे होश में ये सब अपनी आंखों के सामने होते हुए देख रहा था.

अजय ऋतु की गर्दन पर किस करने लगा और फिर धीरे-धीरे ऋतु ने विरोध करना बंद कर दिया.

फिर ऋतु ने खुद ही अजय से पूछा- सर, आपको मेरे अंदर कौन सी चीज़ सबसे ज्यादा पसंद आई जो आप मेरे दीवाने हो गये हो?
अजय बोला- वैसे तो तुम पूरी की पूरी ही मस्त हो लेकिन तुम्हारी गांड इतनी जबरदस्त लगी मुझे कि मैं इस पर लट्टू हो गया हूँ, मैंने आज तक किसी महिला की ऐसी गांड नहीं देखी है जैसी तुम्हारी है. तुम्हारी गांड ने मुझे पागल कर दिया है ऋतु.

ऋतु यह बात सुनकर शरमा गई और उसने मुझे जगाने की कोशिश की लेकिन उसके दो बार पुकारने पर भी मैं ऐसे ही पड़ा रहा. मैं जान-बूझ कर बेहोशी का नाटक कर रहा था.

जब दोनों को यकीन हो गया कि मैं बिल्कुल नींद में हूँ तो दोनों उठ कर बेडरूम की तरफ चले गये. मगर उनको ये नहीं पता था कि मैं उनको देख रहा हूं. वो दोनों अपनी ही मस्ती में थे. उन्होंने दरवाजा भी ठीक तरह से बंद नहीं किया. मैं उठ कर गया तो मैंने देखा कि दरवाजा हल्का सा खुला हुआ था.

दरअसल मैं भी ये देखना चाहता था कि मेरी बीवी ऋतु पैसों के लिए किस हद तक जा सकती है. फिर मैंने देखा कि अजय ऋतु की पैंट को निकलवा रहा था लेकिन मेरी बीवी ने उसका हाथ बीच में ही पकड़ लिया और उसको अपने ऊपर खींच लिया.
अब अजय मेरी बीवी की छाती पर लेट गया था और उसका मुंह उसके दूधों पर था. वो अजय के बालों को सहला रही थी. अजय मेरी बीवी की टी-शर्ट के ऊपर से ही उसके चूचों को किस कर रहा था.

फिर वो धीरे-धीरे उसके बूब्स को चूमते हुए नीचे उसके पेट पर किस करता हुआ उसकी नाभि तक पहुंच गया था.
ऋतु तड़प रही थी. उसने अपने हाथों से तकिया को भींचना शुरू कर दिया और इतने में ही अजय ने ऋतु की पैंट का बटन खोल दिया और उसकी छोटी सी जिप को खोल कर उसको नीचे खींच दिया.

अब मेरी बीवी की काली पैंटी दिखने लगी थी. अजय ने उसकी पैंटी पर अपना मुंह लगा दिया और उसकी पैंटी में अपनी नाक घुसाने लगा. ऋतु सिहर गई और उसने अजय के सिर को पकड़ कर अपनी पैंटी में उसका मुंह पूरी तरह से दबा दिया.

फिर अजय ने उसकी पैंट को निकाल दिया और अब मेरी बीवी मेरे बिजनेस पार्टनर के सामने नीचे से नंगी होकर केवल पैंटी में थी. अजय ऋतु की पैंटी को चाटने लगा और तब तक ऋतु ने अपनी टी-शर्ट भी निकाल दिया था और अब वो ब्रा और पैंटी में रह गई थी. फिर अजय ने उसकी पैंटी भी उतार दी.

अब अजय उसकी दोनों टांगों को खोल कर उसकी टांगों के बीच में अपना मुंह डालकर उसको जीभ से चाटने लगा. ऐसा करने से ऋतु की वासना एकदम से भड़क उठी थी और वो तेज-तेज सिसकारियां लेने लगी थी. उसकी आवाजें बहुत तेज लग रही थीं. उसको ये भी होश नहीं रह गया था कि मैं इस घर में ही हूँ.

कुछ देर ऋतु की चूत को चाटने के बाद उसने मेरी चुदासी हो चुकी बीवी को बैठा दिया और अपना लंड उसके मुंह में डाल दिया. ऋतु भी मजे से अजय का मोटा लंड चूसने में लग गई.
अभी उसका लंड पूरा भी खड़ा नहीं हो पाया था और वो उसको अच्छी तरह से चूस रही थी. फिर देखते ही देखते अजय का लंड पूरा तन गया और उसका आकार बहुत बड़ा हो गया.

उसका लंड मुंह में डाले हुए ही ऋतु ने अपनी ब्रा भी खोल दी. उसके गोरे चूचे और उसके चूचों पर ब्राउन रंग के निप्पल देख कर अजय ने उसके निप्पलों को मसलना शुरू कर दिया. वो उसकी दोनों चूचियों को अपने हाथों से दबा रहा था. ऋतु भी उतनी ही तेजी से उसका लंड चूसने में लगी हुई थी.

कुछ देर तक वो दोनों ऐसे ही मजे लेते रहे और फिर अजय ने ऋतु को घोड़ी बनने के लिए कह दिया. वो मेरी बीवी की गांड मारना चाहता था.

ऋतु ने कहा- पहले मेरी चूत को चोदो.
अजय के कुछ कहने से पहले ही उसने उसका लंड अपनी चूत पर लगवा लिया और उसको अपने ऊपर लिटा लिया. अजय का लंड मेरी बीवी की चूत में घुस गया.

वो तेजी से मेरी बीवी की चूत को चोदने लगा. पांच मिनट तक उसकी चूत को चोदने के बाद उसने फिर से कहा कि अब वो पलट जाये.
उसके कहने पर ऋतु पलट गयी. वो उसके सामने गांड उठा कर पेट के बल लेटी हुई थी. अजय ने सामने से एक तकिया उठाया और ऋतु के पेट के नीचे रख दिया.

तकिया रखे जाने से ऋतु की गांड ऊपर उठ कर आ गई और बिल्कुल सटीक पोजीशन में हो गई. अजय ने फिर अपने मुंह से थोड़ा सा गर्म थूक निकाला और ऋतु की गांड के छेद पर मलने लगा. थूक को मलते हुए वो मेरी बीवी की गांड में उंगली भी कर रहा था. ऋतु बार-बार उचक रही थी. लेकिन फिर उसे भी अजय की उंगली लेने में मजा सा आने लगा. अजय तेजी के साथ उंगली करते हुए ऋतु की गांड को चौड़ी करने लगा.

उसके बाद मेरे बिजनेस पार्टनर ने अपने लंड का सुपारा मेरी बीवी की गांड पर सटा दिया. धीरे-धीरे वो मेरी बीवी की पीठ पर लेटता चला गया. जैसे ही उसका सुपाड़ा मेरी बीवी की गांड में घुसा तो वो चीखने लगी उम्म्ह… अहह… हय… याह… लेकिन अजय ने अपना दबाव बनाना जारी रखा.

ऋतु छटपटाने लगी लेकिन वो उसके ऊपर से नहीं हटा. अजय का शरीर काफी भारी था और मेरी चुदासी बीवी उसके बोझ के नीचे दब सी गई थी. अजय का लंड ऋतु की गांड में उतरता चला गया.

धीरे-धीरे करके अजय ने अपना पूरा लंड ऋतु की गांड में उतार दिया. फिर वो अपनी कमर को हल्के-हल्के हिलाने लगा. उसका लंड ऋतु की गांड में हरकत करने लगा और उसके छेद के अंदर-बाहर होते हुए उसकी गांड के छेद पर घर्षण करने लगा.
ऋतु कराह रही थी. अजय ने उसको अपने शरीर के नीचे दबाया हुआ था.

फिर उसने स्पीड एकदम से तेज कर दी और ऋतु चीखने लगी.
लेकिन अजय ने उसके मुंह पर हाथ रख दिया. वो कुछ देर रुका और फिर उसने अपना हाथ उसके मुंह से हटा लिया. ऋतु अब शांत हो गई थी. उसने दोबारा से उसकी गांड को चोदना शुरू किया. एक-दो बार तो ऋतु को दर्द महसूस हुआ लेकिन फिर वो भी अजय से अपनी गांड चुदाई का मजा लेने लगी.

अजय उसकी पीठ को चूमने लगा. अब ऋतु के मुंह से फिर से सिसकारियां निकलने लगीं. अजय ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और फिर दोनों ही गांड चुदाई का मजा लेने लगे. दोनों के मुंह से कामुक सिसकारियां निकल कर कमरे में गूंजने लगी. आह्ह … स्स्स … हय … ओह्ह … आह्ह … जान … तेरी गांड कितनी टाइट है. मैं तो तेरी गांड पर मर मिटा हूं. अजय के मुंह से इस तरह के शब्द निकल रहे थे और मेरी बीवी ऋतु अपनी गांड चुदवाने में मग्न हो गई थी.

दो मिनट के बाद ही मेरी बीवी अपनी गांड को ऊपर उठाने लगी. अजय भी जोर से उसकी गांड में धक्के लगाने लगा. दोनों ही चुदाई का आनंद ले रहे थे.

उनकी यह हॉट चुदाई देख कर मेरा लंड भी खड़ा हो गया था. मैंने भी अपना लंड निकाला और उस नजारे को देखते हुए वहीं पर मुट्ठ मारने लगा. मुझे अपनी बीवी की गांड चुदते हुए देखने में पहली बार बहुत मजा आ रहा था.

मैंने कभी अपनी बीवी की गांड नहीं मारी थी. लेकिन आज पता चला कि मेरी बीवी के पास चुदवाने के लिए चूत के अलावा एक और छेद भी है.

अजय तेजी के साथ ऋतु की गांड चोदने में लगा हुआ था. उसकी कमर की स्पीड को देख कर ऐसा लग रहा था जैसे उसके शरीर में कोई मशीन फिट कर दी गई हो. बहुत ही चोदू किस्म का बंदा था वो. मेरी बीवी भी अपने पति के दोस्त से चुदाई का पूरा मजा ले रही थी.

इस तरह से पूरे दस मिनट तक अजय ने स्पीड में मेरी बीवी ऋतु की गांड चोदी और फिर वो एकदम से ठहरता चला गया. उसने अपना माल ऋतु की गांड में ही छोड़ दिया. जब उसका लंड ऋतु की गांड से बाहर निकला तो मेरी बीवी की गांड का छेद पूरा खुल चुका था.

मैंने देखा कि ऋतु की गांड से एक तरल पदार्थ बह कर बाहर निकल रहा था जो उसकी चूत की तरफ जा रहा था. दोनों ही शांत हो गये. ऋतु ने अपनी चूत को एक कपड़े से साफ किया और फिर अपनी गांड को भी साफ किया. फिर उन्होंने अपने कपड़े पहन लिये और वो बाहर आने की तैयारी करने लगे.

मैं भी वहां से हट कर वापस सोफे पर आकर लेट गया और सोने की एक्टिंग करने लगा.

फिर वो दोनों बाहर आ गये. मैंने अजय को कहते हुए सुना- देखा ऋतु डार्लिंग, मैंने कहा था न कि आकाश को कुछ भी पता नहीं चलेगा. ये तो अभी तक ऐसे ही पड़ा हुआ है.
ऋतु बोली- ठीक है अजय सर, अब मेरा काम हो जायेगा न?
अजय बोला- हां, लेकिन तुम्हें मुझे खुश करते रहना होगा. मैं तुम्हें मालामाल कर दूंगा.
वो बोली- ठीक है. अब आप चले जाइये, अगर आकाश उठ गया तो इसको हमारे बारे में जरूर कुछ न कुछ पता लग जायेगा.

इतना कह कर अजय चला गया और ऋतु अपने कमरे में चली गयी. उसको सो जाने के बाद मैं भी उठ कर उसके पास चला गया. उस दिन मुझे पता चला कि मेरी बीवी अपने शौक पूरे करने के लिए अपनी गांड भी चुदवा सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *