Category

खुले मे सेक्स

Category

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम अनूप राणा है और प्यार से दोस्त लोग मुझे चुत का राणा भी कहते हैं | सभी जानते हैं की ऐसी कोई नारी या लौंडिया नहीं जिसकी चुत मैं नहीं मार सकता | दोस्तों मैं सब – कुछ छोड़ – छाड कर बस पानी एक गर्लफ्रेंड के साथ ही रहने का फैसला किया तो मरे कमीने दोस्तों ने मेरी गर्लफ्रेंड की एक सहेली जिसका नाम चमेली था उसकी चुत मारने पर मुझसे ६००० हज़ार रूपए की हसरत लगा दि | दोस्तों अब मामला पैसों का आ चूका था और उन् दिनों मेरे पास तो पैसों की भी किल्लत है और मैं यह भी जानता था की दोनों ही मामलों में मेरे ही फाईदे थे सो मैंने उनकी शर्त पर हामी…

मैं आज मैं आपको इंडियन लड़की की चुदाई के बारे में बताने जा रहा हूँ जिसकी चुदाई मैंने अपने शहर को वापस जाते समय झाड में रूककर ही की थी | दोस्तों वो मेरे रिश्ते में कतई भी न लगती थी मेरी मुलकात तो उसे केवल अपने शहर में वापस जाते समय दूर की सफर तय करने वाली बस में हुई थी | किस्मत से हम दोनों का सिट नंबर अगल – बगल ही था जिसपर अब हम हमारी भी चल पड़ी | मैंने सुए सफर के आधे सफर में ही अपने काबू में कर लिया था | अब जब भी उसे नीद आती तो वो अपना सर मेरे कंधे पर रख लेतो ओत मैं उसके टॉप के अंदर ही हाथ डालने लगता |…

आज मैं आपको सोनी की खरी चूत चुदाई की कहानी सुनाने जा रहा हूँ और मुझे उम्मीद है यह कहानी आपको खूब पसंद आएगी | दोस्तों सोनी मेरे सामने के मौहल्ले में रहा करती थी जान मैं क्रिकेट खेलने जाया करती थी और क्यूंकि उस्भी क्रिकेट में दिलचस्पी थी तो वो हमेशा अपने घर की बालकोनी से हमारा मैच देखा करती थी | अब मैं भी उसे ताका करता था और जब हमें छक्के मारता था तो साथ में उसे भी आँख मार दिया करती था जिसपर वो भी मुस्का दिया करती थी | ज़ाहिर तौर पर वो भी मुझसे पसंद करती थी और कई दिनों तक हमारी इसी तरह इशारों ही इशारों ही में बातें होने लगी और एक दिन मौका आ ही…

यह कथा मेरे ससुराल की है, जहां एक रात हमने उस गांव देहात में छत पर चांदनी रात में चूत का आनंद लिया। मेरा नाम आजाद है और मैं आप लोगों को यह अनुभव अपने शब्दों में पात्रों के नामों के साथ हल्के हेर फेर के साथ सुनाने जा रहा हूं जिससे कि किसी की गोपनीयता भंग न हो और आपके अंतर्मन में छुपी कामेच्छा जग उठे। मैं ससुराल अक्सर आता जाता रहता हूं क्योंकि मेरे साले मनोज की बीबी अत्यंत खूबसूरत और दिलफेंक हसीना है।

सभी दोस्तों को मेरा प्यार. क्या हाल है दोस्तों? मैं हु रीत और मैं पंजाब की रहने वाली हु. मेरी उम्र २४ साल और रंग गोरा है. बाकि आपको पता ही है, पंजाबन लडकियों की सुन्दरता और कामुकता बराबरी कोई नहीं कर सकता. तो अब मैं आती हु आज की कहानी पर. ये कहानी मेरे पहले सेक्स के अनुभव के बारे में है. तब मैं २० साल की थी और हमारा नया घर बना था, जो की गाँव के बाहर खेतो में था. मेरा फिगर तक़रीबन ३२-२८-३४ है और गाँव के कई लड़के मेरे पर ट्राई मारते थे. पर मैं किसी को ज्यादा भाव नहीं देती थी. उनमे से एक लड़का था शमशेर. वो दिखने में उनसे ज्यादा स्मार्ट और मजबूत शरीर का मालिक…

अभी  बाबा बूदन को बुढापे का सुरुर चढ रहा था, बुढिया की चूत सूख के छुहारा हो गयी थी और नयी लौंडिया ढलती जवानी को आग नहीं दिखातीं। रोज सुबेरे चौराहे पर जाकर स्कूल जाती लड़कियों को चोदने के लिए ललचाती नजरों से देखते और फिर कोई हिंट न मिलने से उदास होकर धोती में लटकता लंड लेकर वापस चले आते। बुढौती का सहारा डंडा अब खड़ा नहीं होता है। तो क्या हुआ, मन तो चंचल है और बच्चा भी, इसका बुढापा नहीं आता और इस कदर से बुढापे में लौड़ा की छीछालेदर होने से बचाने के लिए कोई ना कोई उपाय तो करना ही पड़ेगा।

हाये दोस्तों आज मैं कहानी लाया हूं फिर कंट्री साईड मतलब गांव देहात से जहां अक्सर लंड और चूत के खेल खेतों में खेले जाते हैं। मैं एक किसान का बेटा हूं इसलिए हमारे घर में खेती होती है और जब कभी मैं गांव जाता हूं खेतों पर अवश्य जाकर थोड़ा समय बिताता हूं। अक्सर गांव की हसीन मल्लू आंटियां, नवयौवनाएं और भाभियां खेतों में जाती हैं कुछ न कुछ काम करने के लिए और यहां तक कि लोटा लेकर शौच पर भी निकल जाती हैं। इसलिए गांड देखने और चूत मारने का अच्छा जुगाड़ रहता है। इस बार मेरे यहां चने की खेती हुई थी और चना की खास निगरानी करनी पड़ती है। रात को महिलाएं जाकर चने के खेत में अक्सर शौच…

हेलो दोस्तों आज मैं आपको एक नयी कहानी सुनाने जा रहा हूं, पहाड़न की चूत मेरे पहाड़ी एडवेंचरों की एक ऐसी कहानी है जिसको पढ कर आप का दिल खुश हो जाएगा। तो आईये चलते हैं कहानी की तरफ। मेरा मामा गांव है विंध्याचल पर्वत की तराईयों में। जहां कि हम सब भैंस चराने के लिए पहाड़ की हरियाली पर उपर जाते हैं। हमारे झूंड में लड़कियां भी भैंस लेकर जाती हैं, और सच तो ये है कि लड़के लड़कियां दोनों ही मिलजुल के रहते हैं। उनको मुसीबतों में एक दूसरे का साथ देना होता है और ये चरवाहों के समूह के नियम भी हैं।

कुछ भी कहने से पहले या कुछ भी सुनाने से पहले मैँ आपको बता दूँ कि यह एक सत्य कथा है. आप इस पर यकिन करिये या ना करे यह आपकी मर्ज़ी, लेकिन मेरा फर्ज़ है आपको यह बता देना.तो शुरुआत करते हैँ मुझसे, मेरा नाम शीबा है, मैँ दिल्ली की रहने वाली एक पढी लिखी लडकी हूँ. मेरी उम्र 26 साल और पेशे से मैँ एक पत्रकार हूँ. मेरा काम है लोगोँ तक सच्चाई को लाना. इस काम को करने के लिये मुझे ना जाने किन किन लोगोँ से दो चार होना पडता है. मेरे लिये दिन रात सब एक समान हैँ. आधी रात को भी मुझे अक्सर न्यूज कवरेज करने जाना पडता है. दिखने मेँ मैँ काफी सुन्दर, गोरी, 5.7’’ लम्बी और…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम करन है. इससे पहले भी मैं कई चुदाई स्टोरी लिख चूका हु. मेरा यहीं प्रयास होगा, कि आप को भरपूर आनंद आये. दोस्तों, ये चुदाई की कहानी बिलकुल रियल है बट उस समय की है, जब मैं अलीगढ के पास एक गाँव में रहता था पूरी फॅमिली के साथ. मेरी ऐज करीब १८ साल की होगी. मेरी बॉडी अच्छी थी और गाँव में रहने की वजह से और वर्जिश करने के वजह से. मैं खेतो में काफी काम करता था सुबह और शाम को खेतो में काम ज्यादा करते थे. दोपहर में धुप में काम नहीं कर पाते थे, तो हम लोग आराम करते थे. एक दिन सारा काम ख़तम करके मैं आराम से घर सोया था. कि तभी अचानक…