_

सविता भाभी का WhatsApp यहाँ से डाउनलोड करो और बाते करे पूरी नाईट सेक्सी भाभी से [Download Number ]


कजिन सिस्टर ने चूत लेने दी

loading...

हेलो बॉयज & गर्ल्स, मेरा नाम विक्की है और मैं पंजाब के अमृतसर का रहने वाला हु. ये मेरी पहली स्टोरी है. मेरा लंड ५ इंच लम्बा और २ इंच मोटा है, जोकि किसी भी लड़की को सैटइसफाई कर सकता है. कोई भी पंजाब हरियाणा की लड़की, भाभी हो.. तो मैं उसको प्राइवेट सर्विस दे सकता हु. अब मैं स्टोरी पर आता हु. ये बात अगस्त २०१४ की है. मेरे मामा की बेटी का नाम अंजू है और उसकी ऐज भी १९ इयर्स है. वो बहुत सेक्सी दिखती है. अगस्त में अंजू हमारे घर रहने को आई थी. अंजू बहुत ही सेक्सी और गोरी और पतली है. उसका साइज़ ३६-२८-३४ का होगा. मैं जब भी उसको देखता, तो मेरा मन उसको चोदने का करता था. उसके आने के दो दिन बाद, मेरा एक्सीडेंट हो गया. मेरी बाजू की हड्डी में फ्रेक्चर हो गया और डॉक्टर ने मुझे बेड-रेस्ट के लिए बोल दिया. पहले तो मैं अपने रूम में अकेले ही सोता था. लेकिन चोट     लगने की वजह से मम्मी ने बोला, कि मेरे कमरे में मेरे साथ वो और अंजू भी सोयेंगे. ४-५ दिन ऐसे ही निकल गए.

मेरा बहुत मन था अंजू के साथ सेक्स करने का. आखिर ६ दिन बाद, मम्मी को किसी काम से बाहर जाना पड़ा और उस दिन सिर्फ अंजू थी घर पर. रात को खाना खाकर अंजू मेरे पास ही आकर लेट गयी. हम लोग बातें करने लगे. फिर उसने मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा. मैंने कहा – मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. उसने कहा – ऐसा हो ही नहीं सकता, कि तेरी कोई गर्लफ्रेंड ना हो. मैंने अपना हाथ उसके सिर पर रख कर बोला – नहीं अंजू, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

उसने मुझे अचानक से पकड़ कर किस कर दिया और बोली – मुझे अपनी गर्लफ्रेंड बना ले. मैं तो एकदम से शौकेद ही हो गया. मैंने उसे देर ना करते हुए – आई लव यू बोल दिया और लिप किस कर दिया. पहले तो उसने विरोध किया किस का, लेकिन थोड़ी देर बाद वो मेरा साथ देने लगी. फिर मैंने उसके बूब्स दबाने शुरू किये एक हाथ से. क्योंकि मेरा एक हाथ काम नहीं कर रहा था ना.. फिर मैंने उसकी चूत पर हाथ रखा, तो उसने मेरा हाथ हटा दिया और बोली – नहीं विक्की.. सेक्स नहीं.. मैंने हाथ हटा लिया और नाराज़ होने का नाटक करने लगा. फिर १० मिनट के बाद, वो मेरे पास आई और मुझे हिलाया और बोली – क्या हुआ विक्की.. नाराज़ को क्या मुझसे? मैंने गुस्से से बोला – नहीं, मैं क्यों नाराज़ हु.. सो जाओ चुपचाप.

तो फिर उसने अपना हाथ मेरी चूत पर रख दिया और बोली – सेक्स करने का मन मेरा भी है. लेकिन अगर कोई प्रॉब्लम हो गयी, तो बहुत बुरा होगा. मैंने उसे समझाया, कि कोई प्रॉब्लम नहीं होगी. फिर मैंने उसे कपड़े उतारने को कहा और उसने मेरे भी कपड़े भी उतार दिए. फिर उसने मेरा लंड पकड़ कर मुह में ले लिया. मैंने बोला – बहुत एक्सपर्ट हो! क्या बात है! पहले भी सेक्स कर चुकी हो लगता है. अंजू ने रिप्लाई नहीं किया. फिर कुछ देर सोच कर बोली – नहीं भैया, मैंने कभी सेक्स नहीं किया है. लेकिन पोर्न मूवीज बहुत देखी है. इसी लिए एक्सपीरियंस है. फिर १० मिनट के बाद, मैंने उसके मुह में ही झड गया. फिर उसने मुझे चूत चाटने को कहा. मैंने उसे मेरे मुह के ऊपर आने को कहा. वो मेरे ऊपर आ गयी और मैंने अपनी जुबान उसकी चूत में डाल कर उसकी चूत को चाटने लगा. वो सिसकिया ले रही थी. फिर १० मिनट बाद वो भी झड गयी और मैं उसकी चूत का सारा माल पी गया. फिर मैंने उसको मेरे लंड पर बैठा कर ऊपर – नीचे होने को कहा. उसने मेरा लंड अपनी चूत में डालने की कोशिश की, लेकिन लंड घुस नही पाया. इसका मतलब अंजू सही कह रही थी… वो एक वर्जिन गर्ल थी. फिर मैंने उसको आयल लाने को बोला..

फिर उसने मेरे लंड को आयल में भिगो दिया और अपनी चूत पर भी आयल की मालिश की. फिर उसने अपने हाथ से लंड को अपनी चूत में घुसाया. लेकिन, फिर से थोड़ा सा ही लंड अन्दर घुस पाया था. फिर मैंने उसका ध्यान बटाने के लिए उससे बातें करने लगा और फिर मैंने जोर से धक्का मारा और पूरा लंड अन्दर चले गया. वो चिल्ला उठी और मुझे कस कर हग कर लिया. मैंने थोड़ा रुका, तो वो बोली – प्लीज इसे बाहर निकालो.. ये तो मेरी जान ही निकाल देगा. मैं रुक गया था और उसे समझाने लगा, कि थोड़ी देर प्रॉब्लम होगी. बाद में सब सही हो जाएगा. मैं उसे समुच करने लगा और वो भी गरम हो गयी थी. थोड़ी देर बाद, वो बोली – भैया अब दर्द कम हो गया है. हम सेक्स कर सकते है.

थोड़ी देर बाद, वो मेरे लंड पर बैठ कर मज़े से सेक्स कर रही थी. फिर मैं उठ गया और उसे डोगी स्टाइल में चोदने लगा. वो एक बार झड चुकी थी और अब वो पुरे मज़े ले रही थी. वो मोअन कर रही थी. साथ – साथ बोल रही थी.. विक्की भैया.. मैं तुम्हारी हु बस… मुझे ऐसे ही चोदते रहना हमेशा. फिर मैं २० बाद झड़ने वाला था. मैंने उससे पूछा, कहाँ गिराऊ? वो बोली – भैया अन्दर ही छोड़ दो. फिर मैं उसके अन्दर ही झड गया. उसने मेरा लंड मुह में ले लिया और पूरा लंड चाट कर साफ़ कर दिया. फिर हम ऐसे ही लेटे रहे. हम दोनों समुच कर रहे थे और थोड़ी देर बाद, फिर से सेक्स किया.

उस रात हमने ४ बार सेक्स किया और फिर अगले दिन, हम दोनों उठे और एक दुसरे से शरमा रहे थे. फिर मैंने उसे बुलाया और कहा – ये सब कॉमन है आजकल. तुम शरमाओ मत, अगर तुम ऐसे बिहेव करोगी, तो मम्मी को शक हो जाएगा. फिर वो नार्मल हो गयी और मेरे साथ मस्ती करने लगी. हमने सुबह ९ बजे सेक्स किया, फिर १२ बजे मम्मी आ गयी वापस. फिर अंजू भी अपने घर चली गयी. अब अंजू जब भी हमारे घर आती है या मैं अंजू के घर जाता हु, तो हम दोनों मौका निकाल कर सेक्स करते है.

loading...