पति के लंड से कुछ भी नहीं होता था तभी मैं किरायेदार से चुदवाई

loading...

मैं शेफाली दिल्ली में रहती हु, मैं sexkahani.net पे ये कहानी लिख रही हु, आशा करती हु की आपको मेरी ये कहानी पसंद आएगी, मैं ३२ साल की हु, मैं अपने पति से वेहद प्यार करती हु पर कभी कभी वासना का नशा इतना हो जाता है की वेवफा बन जाना पड़ता है, मेरे साथ भी ऐसा ही हुआ, ना चाहते हुए भी मैं अपने किरायेदार से चुद गयी, कहानी बड़ी ही रोमेंटिक है, क्यों की मेरे मन में वो पति का शरारत ने मुझे चुदने के उस्काया और अपना सब कुछ न्योछाभार कर दी २0 साल के अपने किरायेदार को. मैं आपको पूरी कहानी सुनाती हु,

मैं नॉनवेज स्टोरी डॉट की रेगुलर पाठक हु, मैं रात को सोने के पहले जरूर पढ़ती हु क्यों की अक्सर यहाँ पे मदहोश कर देने बाली कहानियां होती है, चाहे आप शादी शुदा हो या कुंवारा हर तरह की मजेदार कहानी यहाँ मिलती है, मैं दूसरे की कहानी पढ़ते पढ़ते आज अपनी भी खूबसूरत लम्हा आपके सामने पेश कर रही हु, आशा करती हु की आपको अच्छा लगेगा.

मेरे पति का टूरिंग जॉब है वो अक्सर कंपनी के काम से दिल्ली से बाहर रहते है पर इस बार तो हद हो गयी है वो 35 दिनों से बाहर है, कौन है जो बिना सेक्स के रह सकता है पर औरत में संयम होता है इस वजह से ज्यादा वो खुल नहीं पाती है ये आप भी जानते है, भले आपको वाइफ या गर्ल फ्रेंड आपसे चुदना चाहती हो पर वो हमेशा आपको नहीं बताएगी वो तो आपको नटखट अदाओ के लिए इंतज़ार करते रहती है,

एक दिन की बात है रात के करीब 10 बज रहे थे मेरे पति देव का फ़ोन आया आज वो बड़े ही रोमेंटिक मूड में लग रहे था, उहोने लैपटॉप के स्काइप पे आने को कहा वीडियो चैटिंग के लिए, मैंने फटा फट लैपटॉप ओन की और आ गयी, मेने पर्पल कलर की नाइटी पहनी हुई थी जो की स्लीवलेस और जाँघो तक की लंबाई ओर सामने से नेट कट है जो मेरे हज़्बेंड को पागल बना रही थी ओर इसलिए वो बार बार बोल र्हे थे की कुछ तो दिखा तो मेरी रानी. पर मेने उनकी इच्छा को मना कर दी और लॅपटॉप लेकेर बिस्तर पर उल्टा लेट गई. लॅपटॉप मेरे सामने था ओर में उल्टा लेट क्र अपने हज़्बेंड से बात करने लगी. मुझे पता था की इससे मेरे क्लीवेज ओर अच्छे से दिखने लगेंगे क्योकि मेरे बूब्स मेरे बेड से दब कर ओर बड़े दिखने लगे है ओर नाइटी से काफ़ी बाहर आने लगे. ये देख क्र मेरे हज़्बेंड पागल से हो गये ओर मुझसे बोहोट रिक्वेस्ट करने लगे की कुछ तो दिखा दो बहुत दिन हो गया है तुम्हारे जिस्म को देखे हुए.

मेने उनसे हस्ते हुए कहा की मेरे पति हो आप, इतनी इच्छा तो पूरी करनी हे पड़ेगी. फिर मेने अपने पूरे बाल साइड में कर दिए ओर लेफ्ट साइड की नाइटी की स्ट्रॅप को तोड़ा सा नीचे कर दिया. अब मेरी स्ट्रॅप शोल्डर के साइड मे लटक र्ही है ओर मेरी पर्पल ब्रा मेरे गोरे जिस्म पर मेरे पति को मदहोश कर रही थी है. सच बताऊ तो मेरी हालत भी खराब हो रही थी ओर मन कर रहा था की मैं अपने पति के लिए पूरी नंगी हो जाऊँ वेब केम पे. पर मुझे शरम भी बहुत आर रही थी और मेरे पति बोल रहे थे “ क्या बात है पूनम, मुझे घर आने दो … में तुम्हे नंगा करके कच्चा खा जाऊंगा. में थोड़ी ओर शरमाई ओर फिर उन्होने कहा की अपनी ब्रा की स्ट्रॅप भे नीचे कर दो.

उनकी बात मानते हुए मेने अपनी ब्रा की स्ट्रॅप नीचे कर दी ओर अब मेरे क्लीवेज ऑलमोस्ट मेरे एक बूब्स को 70% दिख रहे थे . मेरी ब्रा सिर्फ़ मेरे निपल को कवर की हुए थी ओर उसके ऊपर का सूब कुछ मेरे पति को दिखा रही थी . मन में आया की तू कितनी बेशरम हो गई है शेफालीपर तभी मेरे पति ने कहा “पूनम.. मुझे घर आने दे , में तेरे दूध को अपने होठो से चाटूंगा, दबाऊंगा और काटूंगा ”. ये सुनकर में पागल सी होने लगी.

फिर उन्होने कहा की अपनी नाइटी उतार दो, मेने उनकी आज्ञा का पालन की ओर अपने नाइटी उतार दी ओर फिरसे उल्टा लेट गई. रात को में ब्रा का हुक ओपन करके हे सोती हू तो लेटने से मेरी ब्रा एकदम से गिर गई ओर मेरे दोनो अनमोल रतन जो दूध से भे ज़ादा गोरे ओर सोने से भे ज़ादा चमकीले है उन्हे वो सॉफ सॉफ दिखने लगे. आप ये कहानी नॉन वेज स्टोरी पे पढ़ रहे है

उन्होने अपना कंट्रोल खो दिया ओर जल्दी से हे वो भे नंगे हो गये. उनका वो एकदम टाइट था जेसे की लोहे की रोड हो . उसमे जान थी ओर वो एकदम मजबूत सरिया लग रहा था. उसको देख कर तो में पागल हो गई ओर अपनी जीभ निकाल कर में अपने होठो पे लगाने लगी. मेने अपनी टंग नीचे बाले होठ पे टच किया ओर लेफ्ट राइट करने लगी, मेरे पति जोश में आ गए और लंड को अपने हाथ में ले लिया, और लंड पे थूक लगा के जोर जोर से ऊपर निचे करने लगे, मैंने भी उनके लिए हेल्प की और मैं अपना चूत आगे कर दी कैमरे पे वो पागल हो गए और एक लम्बी सांस ली और आआह आआअह आआअह आआह आआह कर के अपना सारा माल निचे ही गिरा दिया और आई लव यू बोल के बोले ठीक है शेफालीतुम सो जाओ, गुड नाईट. आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है. फिर उन्होने मुझे गुड नाइट बोला ओर सोने चले गये.

मैं विस्तार पे पड़ी तड़पती रही ओर कुछ देर तक अपने बूब्स अपने आप ही सहलाती रही ओर कुछ देर बाद सो गई. सुुबह आँख खुली तो मन ही मन रात की बातों को याद कर रही थी बेडसे उठा नहीं जा रहा था मेरी जिस्म की प्यास अधूरी ही रह गयी थी . मेरी ये प्यास मुझे पागल कर रही थी मेरे जिस्म में आग सी लग चुकी थी . मेरा जिस्म गरम हो गया था ओर इसको किसी के प्यार की ज़रूरत थी ठंडे होने के लिए रात का किस्सा सोच कर मुझे प्यार भी आ रहा था और गुस्सा भी . प्यार ये सोच की कैसे हम दोनों ने अपने अपने को कैमरा पे देखे और दिखया और गुस्सा इस बात का की वो तो अपना काम बना लिए और मैं मेरे अंदर का पानी तो अंदर ही रह गया,

तभी मेरे दरवाजे का कुण्डी बजा मैं दरवाजे के छेद से देखि मेरा किरायेदार जो की २० साल का नौजबान है एक जिम में ट्रेनी है वो हाथ में बाल्टी लिए और बनियान पहने खड़ा था, मैं बस गाउन को शरीर पे डाल के दरवाजा खोली, मुझे उसकी मस्सल्स को देख कर रहा नहीं गया, जैसे वो अंदर आया मेरे अंदर वासना जाग उठा, और मैं पागल हो गयी मैंने उसको पकड़ लिया और होठ चूसने लगी, वो कह रहा था भाभी क्या कर रहे हो, मैंने कहा चुप हो जा नहीं तो मैं सोर मचा दूंगी को तुमने मेरा इज्जत लूटा, वो डर गया, मैं उससे बेड रूम में ले गयी और कपडे उतार दिए, उसकी मजबूत बाँहों में समा जाना चाहती थी, हुआ भी ऐसा ही वो ५ मिनट में ही बहशी हो गया और वो भी मेरे शरीर को नोचने और चाटने लगा, मुझे ये सब बहुत अच्छा लग रहा था .

मैंने उसके लंड को मुह में ले ली और चूसने लगी, वो आअह आआह आआह कर रहा था, फिर मैं लेट गयी और बोली आज मुझे खुश कर दे, वो अपना लंड निकाल के मेरे चूत के मुह पे लगाया और जोर जोर से धक्के देने लगा, उसका लंड मेरे पति के लंड से ज्यादा बड़ा और मोटा था, वो बस जोर जोर से चोदे जा रहा था और मैं चुदवाये जा रही थी, मैंने हरेक पोज़ में उससे चुदवाई, जब मेरी भूख शांत हो गयी तब मैंने उससे कहा अब तुम अपना सारा माल मेरे मुह में डाल दो, उसने ऐसा ही किया, मैं उसके लंड को और वीर्य को चाट रही थी, फिर दोनों एक दूसरे को पकड़ के लेटे रहे, फिर वो बोला भाभी मुझे कॉलेज जाना है, और वो चला गया, ये वाकया कल ही हुआ है, अब समझ में नहीं आ रहा है की मैं क्या करूँ उससे सेक्स सम्बन्ध फिर से बनाऊ या नहीं, पर मैं तब बिना चुदे नहीं रह सकती इसलिए सोच रही हु की किसी और को ये मौका दू, अगर आप दिल्ली के आस पास रहते है तो मुझे निचे कमेंट करे, मैं आपको भी वही मजा दूंगी, अगर आप दूर रहते है तो मैं वेब केम पे भी आ सकती हु, पर धयान रहे ये सिर्फ मेरे और आपके बीच ही रहेगा, आपकी प्यासी शेफाली

 


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]
loading...

और कहानिया

loading...
28 Comments
  1. SURESH KUMAR SAINI
    April 4, 2017 |
  2. rajesh rao
    April 4, 2017 |
  3. April 4, 2017 |
  4. Anonymous
    April 4, 2017 |
  5. Anonymous
    April 4, 2017 |
  6. April 4, 2017 |
  7. Kunal
    April 4, 2017 |
  8. raj
    April 4, 2017 |
  9. Pramod
    April 4, 2017 |
  10. Rk kaushik
    April 4, 2017 |
    • Anonymous
      April 5, 2017 |
  11. rahul
    April 4, 2017 |
  12. Viks
    April 4, 2017 |
  13. April 4, 2017 |
  14. April 4, 2017 |
  15. Anonymous
    April 4, 2017 |
  16. Bhanu pratap sharma
    April 4, 2017 |
  17. Anonymous
    April 5, 2017 |
  18. Anonymous
    April 5, 2017 |
  19. RAGHAV
    April 5, 2017 |
  20. RAGHAV
    April 5, 2017 |
  21. Sonu
    April 5, 2017 |
  22. neeraj
    April 5, 2017 |
  23. April 5, 2017 |
  24. Surender
    April 5, 2017 |
  25. Vijay
    April 5, 2017 |
  26. April 5, 2017 |
  27. April 5, 2017 |