बड़ा लंड गया बहन की चूत के अन्दर

हेल्लो मेरे दोस्तों क्या भौंक रहा है आपका लंड आजकल | सब बढ़िया चल ही रहा होगा और नहीं भी चले तो अपना क्या अपना तो लंड हमेशा पिचकारी ही चलाता रहता है | दोस्तों मेरा नाम है संपू और मैं भत्ता मोहल्ले में रहता हूँ जहाँ पे ईट बनायीं जाती हैं | ये एरिया बड़ा ही ख़राब हैं क्यूंकि यहाँ पर आसामाजिक तत्व हमेशा बैठे रहते है और दारु गांजा चलता रहता है | इनको देख कर लगता है इनकी गांड में सरिया डाल दूँ गरमा गरम पर साला कर नहीं सकता क्यूंकि इन लोगों का बजन चलता है पूरे एरिया में | अगर मैंने इनसे कुछ कहा तो मेरी गांड तोड़ देंगे और मेरे घरवालों को भी परेशान करेंगे | दोस्तों ये था मेरे बारे में और मैं कहा रहता हूँ उसके बारे में | अब मैं अपने घर के बारे में आपको कुछ बता देता हूँ | तो दोस्तों मैं अकेला नहीं हूँ मेरी एक बड़ी बहन है और मम्मी पापा हैं घर में | मेरे पापा सरकारी नौकरी करते हैं और हम दोनों पढ़ाई करते हैं और मम्मी घर संभालती हैं | हम बड़े ही सभ्य लोग हैं और किसी से कोई मतलब नहीं रखते और जहाँ हम रह रहे हैं वहां कोई मतलब रखने लायक है भी नहीं |

पर लोग हमसे जलते हैं और क्यूंकि वहां कोई हमारे जैसा नहीं है | सिर्फ दो तीन घर हैं वहां और हमारा घर सबसे बड़ा है | मैंने पापा से कहा था कहीं अच्छी जगह घर लेते हैं भले ही पैसे लग जाए ज्यादा | पर मेरा बाप सरकारी नौकरी पर होते हुए भी सस्ती चीज़ें देखता है | कभी कभी तो गुस्सा आती है मुझे | मुझे गुस्सा इसलिए भी आती है क्यूंकि मेरी बहन बहुत जवान है और उसका फिगर भी बड़ा सेक्सी है और सारे लड़के मोह्हले के उसको देखते हैं और गंदे गंदे कमेंट करते हैं | मैंने एक बार पुलिस को फोन लगा दिया था और दो लड़कों की गांड टूट गयी थी | तबसे कुछ शांत है पर यहाँ के बड़े गुंडे पुलिस से भी नहीं डरते और मेरी बहन को पटाने के चक्कर में लगे रहते हैं | वो तो भला हो मेरी बहन इतनी समझदार है कि उसे इन सब बातों से कोई फर्क नहीं पड़ता और वो सब अच्छे से समझती है | वैसे मेरी बहन है बड़ी धांसू क्यूंकि उसकी गांड और दूध जो भी देखले फ़िदा हो जाए | मैंने ऐसा इसलिए कहा क्यूंकि मैं देख चुका हूँ |

मैंने अपनी बहन को चोदने के बारे में कभी नहीं सोचा पर मैं उसके बारे में सोचके मुट्ठ मारता हूँ रोज़ | जब वो नहाने जाती है तो मैं चुपके से किचन की खिड़की के पास चढ़ जाता हूँ और उसको नंगा अपने मोबाइल में रिकॉर्ड कर लेता हूँ | मुझे उसकी चूत देखने का मौका नहीं मिला क्यूंकि उसकी चूत पे बहुत बाल हैं | ऐसा करना गलत है पर जिस दिन से मैं भाई बहन में चुदाई वाली ब्लू फिल्म देखी है उस दिन से मैं अपनी बहन का दीवाना बन गया हूँ और बस वो ही मेरे दिल और दिमाग में छाई रहती है | मेरी बहन को इसके बारे में कुछ भी पता नहीं है और मैं नहीं चाहता कि उसको पता चले | हाँ पर मैं एक चीज़ से अपना काम चला लेता था वो है मेरी बहन की ब्रा पेंटी | मैं रोज़ उसके कमरे में जाता और उसकी पहनी हुयी ब्रा पेंटी को सूंघ के उसके दूध और चूत की खुशबू को सूंघ के अपना मुट्ठ निकालता | कभी कभी तो मैं उसके ब्रा में और पेंटी में ही अपना मुट्ठ भर देता था |

मेरी बहन को ये सब पता नहीं था पर एक दिन सब घर में थे और मेरी बहन दूकान गयी थी कुछ सामान लेने के लिए और वही गंदे लड़के वहां खड़े थे | उन्होंने कहा अरे जानेमन हमसे चुदवा लो और कितना रुकोगी | मैंने देख लिया और मैं जाने लगा उसके पास तो उसने कुछ ऐसा कह दिया जिसकी मुझे उम्मीद नहीं थी | उसने कहा मेरे भाई का लंड 10 इंच का है अगर इतना बड़ा है तो बताओ यही चुदवा लूंगी | तो एक लड़के ने कहा भाई का लंड लेगी क्या ? मेरी बहन ने कहा क्यूँ तुझ जैसे रंडी के बच्चे का लंड लेने से अच्छा है अपने सगे भाई का लंड अपनी चूत में ले लूँ | इतना कहकर वो आगे बढ़ गयी और मेरी छाती चौड़ी हो गयी और मन में लगा वाह अगर मेरी बहन सच में मेरा लंड लेले तो कितना मज़ा आ जाए | मैं ऐसा ही सोच रहा था और मेरी बहन घर आ गयी और मैं उसे देख कर मुस्कुरा रहा था | हम सब ने खाना खाया और वो बस मुझे ही देख रही थी और मैं उसे देख कर मुस्कुरा रहा था और वो भी हल्का सा मुस्कुरा रही थी |

मुझे बड़ा अजीब लग रहा था जब वो ऐसा कर रही थी क्यूंकि मेरे मन में तो उसकी चुदाई घूम रही थी | जब हमने खाना खा लिया और अपने अपने कमरे में चले गए तब वो मेरे कमरे में आई और उसने कहा संपू सुन तो मैंने कहा हाँ क्या हुआ बोल ना ? उसने कहा चल मेरे साथ मेरे कमरे में तुझसे कुछ बात करनी है | मैंने कहा हाँ चल और मैं उसके कमरे में चला गया | उसने मेरे सामने अपनी ब्रा और पेंटी रखी और कहने लगी यार देख मेरे कमरे में ना शायद कोई चूहा घुस गया मेरे सारे कपडे ख़राब कर रहा है | मैंने मन में सोचा अब मैं इसको कैसे बताऊँ कि वो चूहा मैं ही हूँ | पर उसकी ब्रा पेंटी देखते वक़्त मेरा लंड खड़ा हो गया था | अब वो नीचे झुकने लगी तो उसके दूध की नाली और पूरा ब्रा साफ नज़र आने लगा मुझे | फिर वो पलट के नीचे घुसी और पूछा कुछ दिखा क्या ? मैंने कहा हाँ मेरा मतलब नहीं अभी कुछ नहीं दिखा | मुझे उसकी गांड की नाली भी साफ दिख रही थी जो कि बिलकुल गोरी और चिकनी थी |

मेरा लंड ऐसा खड़ा हो जैसे सरिये को गरम कर दिया हो | फिर वो उठी और मेरे पास आई और कहा अच्छा तुझे नहीं दिखा क्या तो मैंने कहा नहीं | उसने मेरा लंड हलके से पकड़ा और मुझसे चिपकते हुए बोली यही तो है वो चूहा | मैंने कहा क्या मतलब तो उसने बताया जब तू मुझे नहाते हुए देख सकता है तो मैं तुझे मुट्ठ मारते हुए नहीं देख सकती क्या ? मैंने कहा मतलब तूने जो उन लडको से कहा वो सच था | उसने कहा हाँ मुझे तेरा ही 10 इंच का लंड लेना है अपनी चूत में और इतना बोलते हुए मेरे लोअर को उतार दिया | वो मेरे लंड को ऊपर नीचे करते हुए उससे खेलने लगी और अपने कपडे भी उतारने लगी | वो बस ब्रा पेंटी में मेरे सामने खड़ी थी और उसका चिकना बदन मुझे तरसा रहा था | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और और चूसने लगी | मैंने भी उसके बदन को सहलाने लगा और उसके दूध को दबाने लगा | वो जोर से मेरा लंड चूसने लगी और उसके दूध मैं मस्त दबाने लगा | उसके दूध मेरे हाथों में नहीं समां रहे थे इतने बड़े थे |

फिर उसने अपनी ब्रा को खोल दिया और मैंने उसके निप्पल को चूसने लगा और धीरे धीरे मैंने उसकी पेंटी को भी उतार दिया | उसके बाद मैं उसकी चूत में ऊँगली करने लगा और वो सिस्कारियां लेने लगी | हम दोनों अब ६९ पोजीशन में आ गए थे | वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसकी चूत को चाट रहा था | मैंने उसकी चूत को खोला और देखा तो वो एकदम गीली और गुलाबी थी | मैंने उसकी चूत को तब तक चाटा जब तक उसने पूरा माल मेरे मुंह में नहीं बार और मैंने भी अपना मुट्ठ उसके मुंह में भर दिया | फिर हम एक दुसरे से चिपक गए और मैंने उसके दूध को फिर से पीना शुरू कर दिया और मेरे लंड को सहलाने लगी और मैं उसकी गांड में ऊँगली कर रहा था | वो आआह्हह्हह ऊऊउह ऊऊउम्म्म्म आआह्हह्हह ऊऊउह ऊऊउम्म्म्म कर रही थी | उसके बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और मैंने अपने लंड को उसकी गीली चूत पे टिका दिया और एक धक्का मारा तो पूरा पंड उसकी चूत में | वो पागल हो गयी और कहने लगी निकाल |

पर मैं धीरे धीरे चोदने लगा | उसने बिस्तर को कस के पकड़ लिया और थोड़ी देर बाद मस्त हो गयी और आआह्हह्हह ऊऊउह ऊऊउम्म्म्म आआह्हह्हह ऊऊउह ऊऊउम्म्म्म करते हुए मेरा चुदाई में साथ देने लगी | करीब आधे घंटे तक मैंने उसकी चूत मारी और पूरी चादर पे ख़ून था | उसके बाद मैंने उसके गांड के छेद को भी चोदा और पूरा मुट्ठ उसकी गांड के अन्दर भर दिया | वो मेरे लिए नए नए कंडोम लाती है और रोज़ मुझसे चुद्वाती है और मैं सच में बहनचोद बन गया हूँ |

Aunty Ki ChudaiBhabhi Ki ChudaiChut Ki ChudaiCouple SexGirlfriend ki Chudai

Leave a Comment