हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप ? मैं आशा करती हूँ की आप लोग ठीक ही होगे | ये मेरी पहली कहानी है | मैं आशा करती हूँ की आप लोगो को जरुर पसंद आयेगी | मेरा नाम आरती है | मेरी उम्र 24 साल है | मैं दिल्ली की रहने वाली हूँ | मैं इंजिनियरइंग की पढाई करती हूँ | मैं दिखने में सेक्सी हूँ | मेरी गांड बड़ी और चोडी है | जिसको देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाये | मेरे फिगर का साइज़ 34 30 36 हैं | मैं आप लोगो का ज्यदा समय न लेती हुई सीधे अपनी कहानी पर आती हूँ |

उस टाइम की बाद है | जब मैं कॉलेज में पढ़ती थी | मेरे कोई बॉयफ्रेंड नहीं था | तब मैंने एक लड़के को देखा जो बहुत हेंडसम था | वो मुझे अच्छा लगा | मैं सोचने लगी की इसके बारे मैं कैसे पता करू की इसकी कोई गर्लफ्रेंड तो नहीं है | फिर मैंने अपनी दोस्त दीपाली को उस लड़के के बारे मैं बताया तब वो बोली मुझे दिखाना तब मैं बताऊँगी | ये कह कर वो वहां से चली गयी | फिर दुसरे दिन मैंने दीपाली को उस लड़के को दूर से दिखाया | तब उसने अपने बॉयफ्रेंड से बोली की उस लड़के के बारे मैं पता करके बताओ | मैं बता देती हूँ की दीपाली के बॉयफ्रेंड का नाम सुभम था | तब सुभम ने मुझे उसका नाम धीरज बताया और बोला वो बनारस का रहने वाला है यहाँ रूम किराये से लेकर रहता है | इतना बता कर सुभम चला गया | जब सुभम मुझे दुसरे दिन मिला तब मैं उससे बोली की मैंने तेरी सेटिंग दीपाली से कराई थी, तू मेरी धीरज से करवा दे वो मुझे बहुत अच्छा लगता है | तब सुभम ने बताया मैं पता करके बताता हूँ की उसकी कोई गर्लफ्रेंड है की नहीं | उसके बाद शुभम ने 3 दिन बाद बताया की उसकी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है | तब मैंने उससे नोर्मल बात की और ऐसे ही कुछ बाते पूछी | फिर मैंने उससे उसकी पढाई के बारे में पूछा | फिर मैं वहां से चली आई कुछ दिन तक मैं उससे रोज कुछ न कुछ पूछती थी | कुछ दिन बाद वो मेरे पास आकर मुझसे बोला की क्या तुम मेरे फ़ोन पर कॉल कर सकती हो मेरा फ़ोन कहीं खो गया है | तब मैंने उसके नम्बर पर कॉल की तो फ़ोन किसी लड़के ने उठाया तब धीरज ने उससे कहाँ कहा हो यहाँ आओ | उसके बाद मैं घर चली आई और रात मैं उसी नम्बर पर कॉल की तो धीरज ने फ़ोन उठाया और बोला कौन तो मैं बोली आरती तब वो बोला कैसी हो | फिर रात मैं खूब सारी बाते भी की | उसके बाद सुबह कॉलेज में मिला तो मुझे देख कर हँसने लगा | इस तरह से मेरी उसकी बात होने लगी | धीरे धीरे 6 महीने ऐसे ही निकल गए | अब हमरी बाते बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड की तरह से होने लगी | अब मैं और धीरज कभी कभी रात को डिनर पर जाते |
एक दिन की बात है | जब वो मुझे अपने कमरे पर ले गया | मैं गयी तो वो मेरे लिए चाय बना कर लाया | तब हमने चाय पीते हुवे बात की फिर वो मुझे सेक्स करने को कहा | तब मैंने मना किया तो उसने पूछा क्यूँ तो मैंने कहा कोई देख लेगा | उसने दरवाजा बंद कर दिया और बोला अब कोई नही देख रहा | फिर वो मेरे पास आकर बैठ गया | फिर उसने मेरे होठो पर अपने होठ रख कर किस करने लगा | मुझे डर लग रहा था की कोई देख न ले इस लिये मैं उसका साथ नहीं दे पा रही थी | कुछ देर बाद मैं भी उसको किस करने लगी | वो मेरे बूब्स को कपडे के ऊपर से दबने लगा | उसके बाद उसने मेरी टी सर्ट निकल दी और मेरे बूब्स को चूसने लगा | जिससे मेरे मुंह से ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआ की सिसिकियाँ निकल गयी | वो मेरे बूब्स को चूसते हुवे | मेरी चूत को भी सहला रहा था | धीरे धीरे उसने मेरी जींस भी निकल दी और मेरी चूत में अपनी ऊँगली घुसा दी | जिससे मेरे मुंह से ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआ की आवाज निकलने लगी | वो मेरी चूत को चूसते हुवे मेरी चूत में ऊँगली अन्दर बाहर करता | जिससे मेरे मुंह से हलकी हलकी आवाज में ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआ किये जा रही थी | इस तरह कुछ देर तक वो मेरी चूत को चाटता रहा | उसके बाद उसने अपने सारे कपडे उतर दिए | फिर अपने लंड को मेरे मुंह में रख कर चूसने को कहा अब मैं उसके लंड को अपने मुंह में रख कर चूसने लगी | फिर उसके लंड को अन्दर बाहर करती | फिर अपनी जुबान से चाटती भी | इस तरह उसके लंड को 10 मिनट तक चुसती रही | उसके बाद उसने मेरी टांगो को फेला दिया | फिर मेरी चूत के मुह पर अपना लंड रख कर धीरे धीरे धक्का मरने लगा | जिससे मेरे मुंह से ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआ की आवाजे निकलने लगी | उसने धीरे धीरे मेरी चूत में अपना आधा लंड घुसा दिया | मेरे मुंह से चीख निकल पड़ी | फिर वो मुझे जोर जोर के धक्के देकर चुदने लगा | मेरे मुंह से धीमी धीमी आवाज में ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआ किये जा रही थी जिसको सुनकर उसने धक्के की स्पीड और तेज कर दी | मेरे मुंह से ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआ की आवाज भी तेज हो गयी | फिर उसने मुझे किस करने लगा मेरी होठो को चूसने लगा मेरी होठो को चूसते हुवे धीरे धीरे धक्के मर कर चोद रहा था | इस तरह मैं चुद रही थी | फिर वो मुझे जोर जोर धक्के दे कर चुदने लगा साथ में मैं अपनी चूत को हीला हीला कर चुदने लगी | तब वो मुझे अपने ऊपर करके अपने आप चुदने को कहा और मैं उसके लंड पर बैठ कर ऊपर नीचे होकर चुदने लगी | साथ में ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआ की सिसिकियाँ लेते हुवे ऊपर निचे हो रही थी | फिर उसने भी नीचे से धक्का मारने लगा | जिससे कमरे में फट फट फट की आवाज घुजने लगी साथ मैं मेरी मुंह से भी सिसिकियाँ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआ की नक़ल रही थी | मैं इस तरह से चुद रही थी | फिर कुछ देर तक चोदने के बाद उसने मेरी चूत से लंड निकल कर मेरे मुंह में डाल कर हिलाने लगा | मैं उसके लंड को चूसने लगी फिर 2 मिनट बाद उसने मेरे मुंह से लंड निकाल कर फिर मेरी चूत में एक ही झटके में पूरा लंड घुसा दिया जिससे मेरे मुंह से ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआ की सिसिकियाँ निकल गयी | फिर वो मुझे जोर जोर के झटके दे कर चोदने लगा | मैं चुदती रही इस तरह से वो मुझे चोदे जा रहा था | साथ मैं अपने मुंह से जोर जोर से ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआ किये जा रही थी | वो मेरी ये आवाजे सुन कर धक्के की स्पीड और तेज कर देता | जिससे मुझे मज़ा आने लगा था | मैं मज़े से चुद रही थी | साथ में अपनी चूत को भी हिला रही थी | इस तरह 35 मिनट की चुदाई के बाद बोला की मैं झड़ने वाला हूँ | फिर वो लंड को निकल कर मुठ मारने लगा | 1 मिनट के बाद उसने अपना सारा माल मेरे पेट पर निकाल दिया | उसके बाद मैंने अपने कपड़े पहने और सोफे पर बैठ गयी |

दोस्तों मैं आशा करती हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी | कहानी पढने के लिए धन्यवाद |

Write A Comment