हैलो दोस्तों मेरा नाम आदित्य मिश्रा है। मैं बिहार का रहने वाला हूँ। कद 5.5, रंग -गोरा, दिखने मैं थोड़ा सा पतला हूँ। मैं सिर्फ चार या पांच महीने से ये पढ रहा हूँ। मेरा भी मन हुआ की मैं भी अपनी कहानी अपलोगो से शेयर करू। 

अक्सर देखा जाता है की कहानी का प्रारम्भ बेड से ही होता है। पर बेड तक लाने से पहले की कहानी मैं दम होता है। खेर जाने दो। मैं अपनी कहानी पे आता हूँ। ये बात 2014 की है जब मैं 12th मैं पढता था। वैसे तो दोस्तों के बीच मैं डबल मीनिंग वाली बात चलती रहती थी। पर मुझे अभी तक सेक्स के बारे मैं पता नहीं था।

मैं लड़कियो को देखते ही सर निचे कर के निकल जाता था। जब ट्यूशन से निकलता तो लड़के कुछ दूर जाने के बाद लड़कियो के साथ जाने लगते थे। मेरे दोस्त की भी गर्लफ्रेंड थी। जिसके कारन मैं उससे जलता था। पर एक दिन उसने मुझे पोर्न वीडियो दिखाया। जिससे मेरा हालत ख़राब हो गया। मुझे 3दिन तक नींद नहीं आई।

लेकिन अब मेरा भी मन हो रहा था वो सब करने का लेकिन मैं जनता था की मुझसे कुछ होने वाला नहीं है। इसीलिए मैं उसको ही बोला की तुही कुछ कर तो उसने बोला की मेरी पहली गर्लफ्रेंड मैं अब मुझे इंट्रेस्ट नहीं है क्योकि मैंने दूसरी भी पटा रखी है।

तुम बोलो तो मैं उसी से सेटिंग करवा दू। हलाकि वो दिखने मैं उतनी सुंदर नहीं थी। लेकिन उसके अंग मैं किसी प्रकार की कमी नहीं थी। मैं ये सुनते ही हा बोल दिया। क्योकि मेरी इतनी इच्छा हो रही थी की अगर 26 साल की भी कोई आंटी से मोका मिलता तो मैं उसे भी नहीं जाने देता बिना सेक्स किये हुए। उसने मुझे उससे मिलवाया पहले तो वो नाराज़ थी मेरे दोस्त से लेकिन जब मुझे सामने देखि तब उसने मुझे गले से लगा लिया। मेरे होश उर गए।

जब उसकी बूब्स मेरे चैस्ट से टकराई। उसकी बूब्स मिडिल साइज़ की थी। और उसने टाइट टी शर्ट और बात 2014 की है जब मैं 12th मैं पढता था। वैसे तो दोस्तों के बीच मैं डबल मीनिंग वाली बात चलती रहती थी। पर मुझे अभी तक सेक्स के बारे मैं पता नहीं था।

मैं लड़कियो को देखते ही सर निचे कर के निकल जाता था। जब ट्यूशन से निकलता तो लड़के कुछ दूर जाने के बाद लड़कियो के साथ जाने लगते थे। मेरे दोस्त की भी गर्लफ्रेंड थी। जिसके कारन मैं उससे जलता था। पर एक दिन उसने मुझे पोर्न वीडियो दिखाया। जिससे मेरा हालत ख़राब हो गया। मुझे 3 दिन तक नींद नहीं आई।

लेकिन अब मेरा भी मन हो रहा था वो सब करने का लेकिन मैं जनता था की मुझसे कुछ होने वाला नहीं है। इसीलिए मैं उसको ही बोला की तुही कुछ कर तो उसने बोला की मेरी पहली गर्लफ्रेंड मैं अब मुझे इंट्रेस्ट नहीं है क्योकि मैंने दूसरी भी पटा रखी है। तुम बोलो तो मैं उसी से सेटिंग करवा दू।

हलाकि वो दिखने मैं उतनी सुंदर नहीं थी। लेकिन उसके अंग मैं किसी प्रकार की कमी नहीं थी। मैं ये सुनते ही हा बोल दिया। क्योकि मेरी इतनी इच्छा हो रही थी की अगर 26 साल की भी कोई आंटी से मोका मिलता तो मैं उसे भी नहीं जाने देता बिना सेक्स किये हुए।

उसने मुझे उससे मिलवाया पहले तो वो नाराज़ थी मेरे दोस्त से लेकिन जब मुझे सामने देखि तब उसने मुझे गले से लगा लिया। मेरे होश उर गए। जब उसकी बूब्स मेरे चैस्ट से टकराई। उसकी बूब्स मिडिल साइज़ की थी। और उसने टाइट टी शर्ट और जीन्स पहन रखी थी।

उसने बोला तुमने अभी तक कोई गर्लफ्रेंड क्यों नहीं बनाया मैं बहुत किस्मत वाली हूँ जो मेरे बॉयफ्रेंड तुम बनना चाहते हो। मैंने भी सोचा जब ये इतनी फ्रैंक हो के बोल रही है तो मैं क्यों चुप राहु और मैंने उसको आई लव यू बोल दिया। वो पब्लिक पैलेस था। इसलिए हमलोग ज्यादा कुछ कर नहीं पाये। पर एक दूसरे का नंबर ले लिया।

मैं वह से निकला ही था तो उसकी कॉल आ गयी। हैम दोनों के बीच बहुत सारी बाते हुई। और मेने उसे अपनी दिल की बात बोल दी। तो वो बोली की ये कहने मैं इतनी देर क्यों लगा दी तुमने। और वो राजी हो गयी। लेकिन उसने बोला की 10 दिन बाद उसके मोम डैड किसी काम से जाने वाले है। तो मैंने बोला की मैं आपके घर पर ही आऊंगा तब। दोस्तों मत पूछो ये दस दिन कैसे बिताये मैंने लग रहा था कि उसने खड़े लन्ड पे धोका दे दिया।

10 दिन मैं से एक भी दिन ऐसा नहीं गया जिस दिन मैंने मुठ ना मरी हो। मुठ मारते मारते 10 दिन गुजर गया। और उसके मोम डैड चले गये। और मैं रात के 9 बजे ये बोल के निकला की एग्जाम की तयारी करने दोस्त के यहाँ जा रहा हूँ। वैसे भी मैं पढ़ने के लिए कभी कभार रात को दोस्तों के यहाँ चला जाता था।

तो किसी को कुछ शक नहीं हुआ। मैंने दरवाज़े पे पहुच कर बेल बजाई तो उसने दरवाज़ा खोला वो नाईट ड्रेस मैं थी जिसका गाला काफी गहरी थी। उसने स्माइल के साथ अंदर बुला लिया। फिर मैंने उसको एक किस दिया। तो वो बोली की इतनी भी जल्दी क्या है। क्योकि उसके लिए ये सब पुराना खेल था पर मैं नया खिलाड़ी था। हमलोग साथ खाना खाये मैं उसे बिच बिच मैं कभी कभी टच भी कर देता था।

फिर उसने टीवी पे ब्लू पिक्चर लगायी और बोली रुको आती हूँ। और कुछ देर बाद वो नंगी होके आ गयी। मेरा पूरा बदन गरम हो गया था। उसकी चूत पे हलके हलके बाल थे जो चूत की शोभा बढ़ा रही थी। फैला के देखने पे अंदर गुलाबी चूत थी जो गीली ही चुकी थी। वो खुद मेरे ऊपर आ गयी।

लेकिन मैंने बोला की मेरे पास कंडोम नहीं है तो वो बोली की ठीक है मैं देती हूँ और वो कंडोम लेके मेरे पास आ गयी। मेरे पूछने पर बताई की मेरा दोस्त उसके यहाँ लाया था। मैंने अपना लंड पे लगाया और उसके ऊपर आ गया। फिर मैने अपना लंड उसके चूत मैं डाल दिया। मुझे कोई खास दिक्कत नहीं हुई। उसकी चूत मैं दो से तिन बार मैं ही मेरा लंड चला गया।

मेरा लंड 6.0 इंच का है। वो मज़े लेके चुदवा रही थी। और ना जाने उसने मुझसे किस किस स्टाइल से चुदी। मैंने बोला की तुम इतना कैसे जानती हो। तो वो बोली की मैं अभी तक 10 लोरे ले चुकी हूँ मैं हक्का बक्का रह गया। मैंने उसको रात मैं 3 बार चोदा। और फिर रात के 2 बजे वापस अपने घर पे आ गया।

Write A Comment