मेरा नाम सिध्दांत है मै यू पी का रहने वाला यह मेरी पहली कहानी है लेकिन उम्मीद है कि लडका हो या लडकी दोनो को यह कहानी पढ कर मजा आजाएगा ।कोई गलती हो तो दोस्तो मुझे माफ करना मै आप लोगो को ज्यादा बोर न करते हुये अपनी कहानी पेश करता हूॅ । यह कहानी मेरे पड़ोस मे रहनेवाली काेमल (नाम बदला है) की है उसकी शरीर बचपन से ही विकसित हो रही थी जिसे देख मेरा मन हमेशा उसको चोदने के तैयार रहता था उसका फिगर 34 32 36 का 18 की उम् मे हो गया था एक बार खेल खेल मे मैंने उसको पीछे से पकडा तो मेरे दोनो हाथ उसके चूचो को छु गये उस पल को आज भी याद करता हूॅ तो मेरी खडी हो जाती है । फिर मैंने उसके चूचियो को खूब मसला कि जैसे कि मेरी अभी यही पर निकल जाएगी उसके बाद फिर कई महीनों के बाद मौका मिला तो मैंने उसके घर पर चुदाई कि उसके चूचे और बडे और सुडौल हो गये थे फिर मैंने खूब जम कर मसला इतना मसला कि उसके चूची लाल हो गयी । फिर उससे बरदास्त नही हुआ उसने कहा अब डालो अब नही रहा जा रहा फिर मैंने उसकी चूत पर अपना लण्ड रगडा और अंदर डाल दिया और मेरा लण्ड उसकी चूत मे आधा घुस गया और मैंने एक कुवॉरी चूत की सील तोड दी। फिर हम फटाफट हुए और एक एक किस करके चल दिये। आप लोगो को मेरी यह सच्ची घटना कैसे लगी जरूर बताये
Email sk368709@gmail.com

Write A Comment