राजकोट वाली गर्लफ्रेंड को लंड दिया

loading...

यह एक सच्ची घटना है. मेरा नाम सागर है उअर में राजकोट, गुजुरात से हु. मेरा लंड ७ इंच का हैं. राजकोट में कोई भी भाभी या आंटी लंड लेना चाहती है तो में हमेशा आपकी खिदमत के लिए हाजिर रहून्न्गा.

जयादा टाइम न ख़राब करते हुए में सीधे कहानी पर आता हु. यह कहानी मेरे और मेरी गर्लफ्रेंड के बीच कि है जिसका नाम सोनल( बदला हुआ नाम) है.

पहले में मेरे बारे में बताता हु. में एक २५ साल का एवरेज बॉडी वाला हु और हेंडसम दीखता हु. और में मेरी गर्लफ्रेंड कि बात करू तो वो मेरे से एक साल बड़ी है और उसका साइज़ क्या बतायु आपको, एक बार कोई उसके बूब्स देख ले तो पूरी रात उसे चूसता रहे.

loading...

उसका फिगर का साइज़ – ३८, ३२, ३८ है और क्या पटाखा दिखती है वो.

वो मेरे दूर कि रिलेटिव कि लड़की है और मैंने एक बार उसे मेसेज किया और फिर हमारी बात होने लगी.

धीरे धीरे मैंने उसे प्रोपोसे किया और वो मान गयी. हमारी शादी होना संभव नहीं था तो भी हमने रिलेशन मेन्टेन किया और बाते चालू राखी. धीरे धीरे हमारी दूरिय कम हो गयी और हम एक दुसरे के बहुत करीब आ गए.

कुछ ऐसा हुआ कि एक बार हम ने बाहर जाने का प्लान बनाया और हम एक होटल में मिले और वही पर ठहरने का सोचा और फिर वहा रूम बुक करवाया जो कि काफी सेक्सी था. और जैसे ही हम रूम के अन्दर पहुचे वो मुझ से चिपक गयी.

loading...

मैंने कहा जानेमन थोडा सब्र करो अभी तो पूरा दिन और पूरी रात बाकी है. होटल में आने से पहले हमने कई बार फ़ोन सेक्स किया था और मुझे बहुत माजा आता था. क्यूंकि वो बहुत रेस्पोंसिव थी.

पहले में फ्रेश हुआ और बाद में वो नहाने गयी. तब तक में टीवी देखने लगा था.

जैसे ही वो नहा कर बाहर आई क्या बतायु दोस्तों क्या लग रही थी वो. बाल खुले हुए और सिर्फ टॉवल में आई और मेरे सामने कातिल नज़र कर के खड़ी हो गयी.

मेरा डिक तोह हाफ पेंट के अन्दर हे उछल कूद करने लगा.

मैं बोला क्या बात है सोनल तुझे तो खा जाने का मन कर रहा है. वो बोली तोह खा जयो न, में तो तुम्हे आज खा जाना चाहती हु.

मैंने कहा ऐसे आसानी से थोड़ी न तुझे खाने दूंगा, वो बोली क्या बात है आज तोह मेरी जान मुझे मुझे तडपना चाहती है क्या? मैंने कहा तदपा तोह तुम रही हो कितने दिनों से!!

मैंने जयादा टाइम न ख़राब करते हुए उसे अपनी गोद में ले लिया और सोफे पर बैठ गया. क्या क़यामत लग रही थी वो, उसके बाल में से बहुत अछि स्मेल आ रही थी. हमने पहले लिप किस किया.

में बहुत ही पैशनेट लिप किस करना चाहता था तो मैंने जल्दबाजी न करते हुए, उसके होठो को मेरे होठो के साथ मिलने दिए और धीरे धीरे हम एक दुसरे कि जीभ को चाटने लगे.

हम दोनों एक दुसरे के अन्दर खो रहे थे और पता नहीं कितना अच्छा लग रहा था. मेरा पूरा मुह उसने दबा के अपने मुह में भर लिया था. मैंने भी उसका पूरा साथ दिया और उसकी जीभ को काटने लगा.

वो बीच बीच में आःह्ह्ह…. आह्ह्हह्ह…. कि आवाज़ कर रही थी. क्या बतायु दोस्तों में सातवे आसमान पर था.


जिसकी कहानी पढ़ी उसका नंबर यह से डाउनलोड करलो Install [Download]

और कहानिया

loading...
One Comment
  1. Anonymous
    September 11, 2016 |